Home India News अमित शाह पर कांग्रेस का पलटवार, पूछा- BJP में दो लोगों की...

अमित शाह पर कांग्रेस का पलटवार, पूछा- BJP में दो लोगों की ही क्यों चलती है?


कांग्रेस प्रवक्ता ने बीजेपी पर किया पलटवार (फाइल फोटो)

रणदीप सुरजेवाला (Randeep Surjewala) ने कहा, ‘बीजेपी को जवाब देना चाहिए कि बहुमत से सत्ता में बैठी सरकार में सिर्फ दो लोगों की ही क्यों चलती है, बाकि लोगों को दरनिकनार क्यों किया गया है?

नई दिल्ली. इमरजेंसी की घोषणा की 45वीं बरसी पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने कांग्रेस पर निशाना साधा. अमित शाह ने तंज कसा कि आपातकाल की मानसिकता आज भी कांग्रेस (Congress) में विद्यमान क्यों है. इस पर कांग्रेस ने पलटवार करते हुए बीजेपी को खुद से सवाल पूछने की नसीहत दी है. कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला (Randeep Surjewala) ने कहा कि सरकार में सिर्फ दो लोगों की ही क्यों चलती है, बाकी लोगों को क्यों दरकिनार किया गया है.

रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया, ‘भारत की सत्ताधारी पार्टी होने के नाते बीजेपी को इसका जवाब देना चाहिए. बहुमत से सत्ता में बैठी सरकार में सिर्फ दो लोगों की ही क्यों चलती है, बाकि लोगों को दरनिकनार क्यों किया गया है? क्या खरीद-फरोख्त, संस्थानों पर कब्जा और बड़े पैमाने पर चूक ही आपकी विरासत है?’ सुरजेवाला ने पूछा है कि नेहरू-गांधी के प्रति आपकी घृणा क्यों है?

सुरजेवाला ने आगे ट्वीट किया, ‘उनसे सवाल होना चाहिए, जिन्होंने अपने गुरू और साथी को जबरन रिटायर और अममानित करके पदों पर कब्जा कर लिया. लालकृष्ण आडवाणी, एमएम जोशी, कलराज मिश्र, केशुभाई पटेल, सुषमा स्वराज, हरेन पंड्या, संजय जोशी… यह लिस्ट बहुत लंबी है.’

ये भी पढ़ें- ISRO का बड़ा ऐलान, अब भारत में प्राइवेट कंपनी भी बना सकती है रॉकेट और सैटेलाइट

शाह बोले- कांग्रेस में घुटन महसूस कर रहे कुछ लोग

गौरतलब है कि अमित शाह ने गुरुवार को आपातकाल के बहाने कांग्रेस हमला बोला और आरोप लगाया कि एक परिवार के हित दलीय व राष्ट्रीय हितों पर हावी हो गए हैं. अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस के नेता अब अपनी ही पार्टी में घुटन महसूस कर रहे हैं. उनके मुताबिक जनता से विपक्षी पार्टी की दूरी बढ़ती जा रही है. शाह ने कहा, ‘45 साल पहले आज ही के दिन एक परिवार की सत्ता की लालसा ने देश पर आपातकाल थोपा. रातों-रात देश को कैदखाने में तब्दील कर दिया गया. प्रेस, अदालतें और यहां तक कि बोलने की आजादी भी कुचल दी गई. गरीबों और दबे-कुचलों पर अत्याचार किये गये.’ बता दें कि  देश में 25 जून 1975 से 21 मार्च 1977 के बीच 21 महीने की अवधि तक आपातकाल लागू रहा. इंदिरा गांधी उस समय देश की प्रधानमंत्री थीं.


First published: June 25, 2020, 4:03 PM IST





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments