Home Make Money इंडियन प्रोफेशनल्‍स के लिए बड़ी खबर! H-1B नौकरियों के लिए ट्रेनिंग पर...

इंडियन प्रोफेशनल्‍स के लिए बड़ी खबर! H-1B नौकरियों के लिए ट्रेनिंग पर 15 करोड़ डॉलर खर्च करेगा अमेरिका


अमेरिका ने एच1-बी के तहत मिलने वाली नौकरियों के लिए एक ट्रेनिंग प्रोग्राम शुरू करने का ऐलान किया है.

अमेरिका (US) ने एच1-बी नौकरियों (H1-B Jobs) के लिए एक प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू करने की घोषणा की है. इसमें आईटी सेक्‍टर भी शामिल है. बता दें कि एच1-बी वीजा (H1-B VISA) तहत ही अमेरिकी कंपनियां हर साल हजारों भारतीय पेशेवरों (Indian Professionals) की नियुक्तियां करती हैं.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    September 27, 2020, 5:41 PM IST

नई दिल्‍ली. अमेरिका ने अहम क्षेत्रों में मीडियम से हाई स्किल वाली (Skilled) एच-1बी नौकरियों (H1-B Jobs) के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम (Training Program) शुरू करने की घोषणा की है. अमेरिका ने कहा है कि वह इस प्रशिक्षण कार्यक्रम पर 15 करोड़ डॉलर खर्च किया जाएगा. इसमें सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र (IT Sector) भी शामिल हैं, जिसमें हजारों की संख्या में भारतीय पेशेवर काम करते हैं. बता दें कि एच-1बी गैर-आव्रजक वीजा (Non-Immigrant VISA) होता है.

हर साल हजारों भारतीयों की नियुक्ति करती हैं अमेरिकी कंपनियां
एच1-बी वीजा के तहत अमेरिकी कंपनियों को विशेष तकनीकी दक्षता वाले पदों पर विदेशी प्रोफेशनल्‍स को नियुक्त करने की अनुमति होती है. इस वीजा के जरिये प्रौद्योगिकी क्षेत्र की कंपनियां हर साल भारत जैसे देशों से हजारों कर्मचारियों की नियुक्ति करती हैं. अमेरिका के श्रम विभाग ने कहा कि मुख्य रूप से सूचना प्रौद्योगिकी, साइबर सुरक्षा (Cyber Security), आधुनिक विनिर्माण (Manufacturing), परिवहन (Transportation) जैसे क्षेत्रों में एच-1बी श्रमबल अनुदान कार्यक्रम का इस्तेमाल किया जाएगा.

ये भी पढ़ें- Aadhaar से जुड़ा ये काम निपटाने के लिए बचे हैं सिर्फ 3 दिन! जल्‍द करें पूरा वरना होगा बड़ा नुकसाननई पीढ़ी के कर्मचरियों को भी कार्यक्रम के तहत दी जाएगी ट्रेनिंग

अमेरिका के लेबर डिपार्टमेंट ने कहा कि प्रशिक्षण कार्यक्रम के तहत मौजूदा कर्मियों के साथ ही नई पीढ़ी के कर्मचारियों को भी ट्रेनिंग दी जाएगी. इससे भविष्य के लिए श्रमबल तैयार किया जा सकेगा. विभाग ने कहा, ‘कोरोना वायरस महामारी की वजह से न केवल श्रम बाजार प्रभावित हुआ है, बल्कि इसके चलते कई शिक्षा और प्रशिक्षण देने वालों व नियोक्ताओं को सोचना पड़ रहा है कि वे अपने कर्मचारियों को कैसे प्रशिक्षित करें.’ इस कार्यक्रम के तहत विभाग का रोजगार व प्रशिक्षण प्रशासन अधिक इंटीग्रेटेड लेबर सिस्‍टम को प्रोत्साहन देने के लिए वित्तपोषण और संसाधनों को तर्कसंगत बनाएगा.

ये भी पढ़ें- Daughter’s Day 2020: देश की इन बेटियों ने बिजनेस को दिया नया मुकाम, देखें तस्‍वीरें

ऑनलाइन प्रशिक्षण के तहत दी जाएगी आवश्‍यक स्किल की ट्रेनिंग
विभाग ने कहा कि इस अनुदान के लिए आवेदन करने वालों को Innovative training strategies के जरिये कर्मचारियों को प्रशिक्षण देना होगा. इनमें ऑनलाइन और दूसरे टेक्‍नोलॉजी आधारित प्रशिक्षण (Online Training) शामिल हैं. स्थानीय पब्लिक-प्राइवेट पार्टनरशिप (PPP) के तहत आवेदकों को अपने समुदायों के बीच कर्मचारियों को जरूरी स्किल की ट्रेनिंग देनी होगी. इससे अहम क्षेत्रों में एच-1बी वाले पदों के लिए मध्यम से उच्च कौशल वाले कर्मचारी उपलब्ध होंगे.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments