Home India News कोरोना के लिए 103 रुपये की दवा से इस कंपनी को हुआ...

कोरोना के लिए 103 रुपये की दवा से इस कंपनी को हुआ 10,868 करोड़ रुपये का फायदा!


मुंबई. बीते शनिवार को ही ग्लेनमार्क फार्मा (Glenmark Pharma) ने भारत में कोविड-19 के इलाज के लिए दवा लॉन्च करने का ऐलान किया था. सोमवार को ग्लनेमार्क फार्मा के शेयरों में 30 फीसदी तक तेजी देखने को मिली. शुक्रवार को कंपनी ने ड्रग रेग्युलेटरी DCGI से Favipiravir दवा को भारत में लॉन्च करने के​ लिए अनुमति प्राप्त किया था. कंपनी ने इस दवा को Fabiflu नाम से बाजार में लॉन्च किया है, जिसका इस्तेमाल मामूली लक्षण वाले कोविड-19 मरीजों के लिए होगा.

अभी भी 150 लोगों पर इस दवा का ट्रायल चल रहा है. शुरुआती आंकड़ों का रिस्पॉन्स बेहतर दिख रहा है. इस दवा के इस्तेमाल से 88 फीसदी कोविड-19 मरीजों में चिकित्सकीय सुधार देखने को मिला है. मरीजों में 4 दिनों के अंदर वायरल लोड तेजी से कम हुआ है.

कारगर साबित हो रही दवा
इस कंपनी को ट्रैक करने वाली आईडीएफसी सिक्योरिटीज (IDFC Securities) ने CNBC TV18 से कहा, ‘अधिकतर मरीजों की सेहत में 6 से 8 दिनों में अच्छा सुधार देखने को मिला है. कई मरीजों को इस दवा का इस्तेमाल 14 दिनों तक न भी करना पड़े.’ कंपनी ने इस दवा की कीमत 103 रुपये प्रति टैबलेट रखी है. ग्लेनमार्क ने बताया कि 200 mg के 34 टैबलेट वाले एक स्ट्रिप की कीमत 3,500 रुपये होगी.यह भी पढ़ें: भारतीय कंपनी ने बना ली कोरोना की दवा, 103 रुपये प्रति टैबलेट है कीमत

FabiFlu कोविड-19 की इलाज के लिए मंजूरी प्राप्त करने वाली पहली Favipiravir दवा है. इस दवा का इस्तेमाल पहले दिन डॉक्टर्स की सलाह पर 1,800 mg का डोज़ दो बार दिया जा सकता है. इसके बाद अगले 14 दिन तक 800 mg का डोज़ (FabiFlu Dose) दिन में दो बार दिया जाएगा.

10,868.76 करोड़ रुपये बढ़ा मार्केट कैप
इन खबरों के बीच सोमवार को ग्लेनमार्क फार्मा के शेयरों में 30 फीसदी की तेजी देखने को मिली. एक समय पर यह स्टॉक 40 फीसदी तक चढ़ चुका था. इसके बाद कंपनी का मार्केट कैप 3,800 करोड़ रुपये से बढ़कर 14,800 करोड़ रुपये के स्तर पर चला गया. बीते तीन महीनों में ग्लेनमार्क के स्टॉक्स में 180 फीसदी की तेजी देखने को मिली है. सोमवार को कारोबार के अंत में ग्लेनमार्क का मार्केट कैप 14,668.76 करोड़ रुपये पर रहा. इस प्रकार कंपनी मार्केट कैप में 10,868.76 करोड़ रुपये का इजाफा हुआ है.

यह भी पढ़ें: 46 साल के बड़े झटके के लिए रहें तैयार! PPF ब्याज दरें आ सकती है 7% की नीचे

रेवेन्यू से हो सकती है 90 करोड़ रुपये की कमाई
favipiravir लॉन्च के बाद कंपनी के रेवेन्यू में इजाफा होने की उम्मीद है. आईडीएफसी सिक्योरिटीज और बैंक ऑफ अमेरिका-मेरिल लिंच जैसे ब्रोकरेजेज का कहना है कि Fabiflu की वजह से ग्लेनमार्क की रेवेन्यू में करीब 25 से 90 करोड़ रुपये का इजाफा होगा.

किसी कोविड-19 मरीज की 8 से 14 दिन के कोर्स पर Fabiflu की कुल ​कीमत 6,000-9,000 रुपये के करीब होगी. ऐसे में ​अगर कंपनी 1 लाख ट्रीटमेंट कोर्स पूरा करने में सफल रहती है तो इससे उसे 60 से 90 करोड़ रुपये का लाभ होगा. साथ ही, अगर इस दवा का निर्यात किया जाता है तो अतिरि​क्त रेवेन्यू भी मिलेगा. कंपनी के प्रबंधन इस बात के भी संकेत दिये हैं कि उसे कई देशों से इस दवा को लेकर संप​र्क किया जा रहा है.

BofA-ML ने अपने अनुमान में कहा है कि Fabiflu दवा से ग्लेनमार्क को 25 से 50 करोड़ रुपये का लाभ मिलेगा. ब्रोकरेज ने कहा, इसके अतिरिक्त यह भी ध्यान देने योग्य है कि बाजार में अब प्रतिस्पर्धा बढ़ रही है. Hikal, Strides, और SMS Pharma के पास एपीआई है. सिप्ला भी रेमडेसिवीर दवा पर काम कर रही हैं.

यह भी पढ़ें: SBI के जरिए यहां से करें खरीदारी, मिल रहा है भारी डिस्काउंट, आज है आखिरी मौका

बाजार में उतर चुके हैं सिप्ला और हेटेरो
बता दें कि पिछले दिन ही Cipla और Hetero Pharma को भी रेमडेसिवीर दवा के लिए डीसीजीआई से मंजूरी मिल गई है. इस दवा को सबसे पहले अमेरिकी फर्म गिलीड ने तैयार किया था. बाद में गिलीड ने भारत की पांच कंपनियों को नॉन-एक्सक्लुसिव लाइसेंस जारी किया. Remdesivir इंजेक्शन के रूप में कोविड-19 मरीजों को दिया जाएगा.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments