Home India News कोविड-19 संकट के दौरान 40 फीसदी देश छात्रों की सहायता करने में...

कोविड-19 संकट के दौरान 40 फीसदी देश छात्रों की सहायता करने में विफल रहे: यूनेस्को


यूनेस्‍को ने जारी किए आंकड़े.

यूनेस्को (UNESCO) के आंकड़ों के अनुसार कोविड-19 फैलने की वजह से बंद किए गए शैक्षणिक संस्थानों के कारण 154 करोड़ छात्र गंभीर रूप से प्रभावित हुए.

नई दिल्‍ली. संयुक्‍त राष्‍ट्र (United Nations) के संगठन यूनेस्को (UNESCO) की वैश्विक शिक्षा निगरानी (जीईएम) रिपोर्ट 2020 के अनुसार विश्व में अल्प और मध्यम आय वाले कम से कम 40 प्रतिशत देश कोविड-19 (Covid 19) से उपजे संकट के कारण लागू लॉकडाउन में स्कूल बंद रहने के दौरान छात्रों को पढ़ने का उचित माध्यम उपलब्ध कराने में नाकाम रहे. मंगलवार को जारी वार्षिक रिपोर्ट के चौथे संस्करण में यह भी कहा गया कि विश्व भर में दस प्रतिशत से भी कम देशों में ऐसे कानून हैं जो शिक्षा में पूर्ण समावेश सुनिश्चित करते हैं.

जीईएम रिपोर्ट के निदेशक मनोस अंतोनिनिस ने कहा, “कोविड-19 ने हमें अपनी शिक्षा व्यवस्था के बारे में फिर से सोचने का अवसर दिया है. लेकिन विविधता का स्वागत करने वाली और उसका मोल समझने वाली दुनिया में हम रातोंरात नहीं पहुंच सकते. सभी बच्चों को एक ही छत के नीचे पढ़ाने और ऐसा वातावरण विकसित करने में अंतर है जहां बच्चा अच्छे से पढ़ सके. लेकिन कोविड-19 ने हमें सिखाया है कि यदि हम सोचें तो चीजों को अलग तरह से भी किया जा सकता है.”

रिपोर्ट में कहा गया कि शिक्षा व्यवस्था अमूमन छात्रों की विशेष जरूरतों को पूरा करने में असफल रहती है. रिपोर्ट में कहा गया, “विश्व के केवल 41 देशों में आधिकारिक रूप से सांकेतिक भाषा को मान्यता दी गई है और दुनियाभर के स्कूल इंटरनेट की सुविधा के अधिक आग्रही हैं बजाय इसके कि वे विकलांग छात्रों को सीखने का माध्यम उपलब्ध करा सकें. साढ़े तैंतीस करोड़ लड़कियां ऐसे स्कूलों में गईं जहां उन्हें पानी, साफ सफाई उपलब्ध नहीं था .”

जीईएम रिपोर्ट एक स्वतंत्र दल द्वारा तैयार की गई है और इसे यूनेस्को ने प्रकाशित किया है. रिपोर्ट में कहा गया, “कम और मध्यम आय वाले लगभग आधे देशों ने विकलांग बच्चों की शिक्षा के बारे में पर्याप्त आंकड़े एकत्रित नहीं किए.” यूनेस्को के आंकड़ों के अनुसार कोविड-19 फैलने की वजह से बंद किए गए शैक्षणिक संस्थानों के कारण 154 करोड़ छात्र गंभीर रूप से प्रभावित हुए.


First published: June 23, 2020, 11:33 PM IST





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

PPF, NSC सुकन्या में पैसा लगाने वालों के लिए खबर, 30 सितंबर को होगा बड़ा फैसला

पब्लिक प्रोविडेंट फंड (पीपीएफ) और सुकन्या समृद्धि योजना पर ब्याज दर सरकार की बदलती रहती है, और यह उसी अनुसार लागू मानी जाती...

दीपिका पादुकोण ने NCB के उगला था डूब सिगरेट का राज, क्या कहता है कानून?

नारकोटिक्स एक्ट के तहत इस संबंध में क्या प्रावधान है? - वकील और कार्यकर्ता अमित साहनी कहते हैं कि, नारकोटिक्स ड्रग्स एंड साइकोट्रॉपिक...

सीधी-सादी बहू रुबीना दिलैक रियल लाइफ में हैं बेहद बोल्ड, Photos

CNN name, logo and all associated elements ® and © 2017 Cable News Network LP, LLLP. A Time Warner Company. All rights...

Recent Comments