Home India News चीनी सेना को सबक सिखाने के लिए भारतीय सैनिकों को मिली पूरी...

चीनी सेना को सबक सिखाने के लिए भारतीय सैनिकों को मिली पूरी छूट- सूत्र


लद्दाख के हालात पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आज तीनों सेनाओं के प्रमुखों और CDS बिपिन रावत ​के साथ बैठक की.

चीन (China) के साथ चल रहे विवाद के बीच रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) आज एक बार फिर तीनों सेनाओं के प्रमुखों और CDS बिपिन रावत (Bipin Rawat) ​के साथ बैठक करेंगे.

नई दिल्ली. पूर्वी लद्दाख (East Ladakh) की गलवान घाटी (Galwan Valley) में भारत (India) और चीन (China) के सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद से दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया है. चीन के साथ चल रहे विवाद के बीच रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह आज एक बार फिर तीनों सेनाओं के प्रमुखों और CDS बिपिन रावत ​के साथ बैठक की है. सूत्रों के मुताबिक सशस्त्र बलों को चीन की ओर से होने वाले किसी भी आक्रामक व्यवहार से निपटने की पूरी आजादी दे दी गई है.

सूत्रों ने कहा कि सेना को निर्देश दिया गया है कि वह जमीनी स्थिति के अनुसार खुद निर्णय लें. राजनाथ सिंह की यह बैठक उनके रूस दौरे से पहले हुई है. इस बैठक को काफी अहम माना जा रहा है, क्योंकि चीन से बढ़े तनाव के बाद से सेना का हौसला बढ़ाए जाने की जरूरत थी.

भारत और चीन की सेनाओं के बीच हिंसक झड़प की घटना सामने आने के बाद भी रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने तीनों सेना के प्रमुखों के साथ इस मसले पर बैठक की थी. चीन के साथ हुई झड़प के बाद से तीनों ही सेनाओं को अलर्ट पर रखा गया है.

बता दें कि 18 जून को तीनों सेनाओं को प्रमुख और CDS बिपिन रावत के साथ रक्षा मंत्री की बैठक में चीन की हर हरकत पर नजर रखने की बात कही गई थी. बताया जाता है कि चीन की नौसेना को कड़ा संदेश देने के लिए हिंद महासागर में भी नौसेना ने अपनी तैनाती बढ़ा दी है. बता दें कि 3500 किलोमीटर की चीन सीमा पर भारतीय सेना की कड़ी नजर है.वहीं भारत ने चीन की सीमा पर अपने दो आधुनिक हेलीकॉप्टर- चिनूक और अपाचे को तैनात किया है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक वायुसेना ने चंडीगढ़ से चिनूक हेलीकॉप्टर को भेजा है, जबकि पठानकोट से अपाचे हेलिकॉप्टर को एलएसी पर तैनात किया गया है.

इसे भी पढ़ें :- India-China Face Off: भारत ने चीन से सटे LAC पर तैनात किए चिनूक और अपाचे हेलीकॉप्टर

तीनों सेनाओं को हाई अलर्ट पर रखा गया
बता दें कि सीमा पर मिग, हरक्यूलिस, मिराज, सुखोई विमान पहले से ही एलएसी पर तैनात हैं. लिहाजा सेना, नौसेना और वायुसेना को अलर्ट पर रखा गया है. सूत्रों के मुताबिक सरकार ने तीनों सेनाओं को किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहने को कहा है. इतना ही नहीं भारतीय नौसेना को हिंद महासागर क्षेत्र में अपनी सतर्कता बढ़ा देने को कहा गया है.


First published: June 21, 2020, 12:46 PM IST





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Google Play Store से हटाने के बाद क्या अब मोबाइल फोन में बंद हो जाएगी Paytm ऐप

CNN name, logo and all associated elements ® and © 2017 Cable News Network LP, LLLP. A Time Warner Company. All rights...

SBI का किसानों को तोहफा- अब घर बैठे कर सकेंगे KCC खाते को लेकर ये सभी काम

एप्लीकेशन फॉर्म फाटो आईडी जैसे मतदाता पहचान पत्र, पान कार्ड, पासपोर्ट, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस आदि एड्रेस प्रूफ जैसे मतदाता पहचान पत्र, पासपोर्ट,...

Recent Comments