Home India News चीन को सबक सिखाने लद्दाख में लगेंगे 134 सैटेलाइट फोन टर्मिनल, सेना...

चीन को सबक सिखाने लद्दाख में लगेंगे 134 सैटेलाइट फोन टर्मिनल, सेना को किया अलर्ट


चीन और भारत के बीच बढ़ तनाव को देखने हुए लद्दाख बॉर्डर पर सेना बढ़ा दी गई है.

भारत (India) चीन को सबक सिखाने के लिए चीनी बॉर्डर (Chinese border) पर न केवल हथियारों और सैनिकों की संख्या बढ़ा रहा है, ब​ल्कि लद्दाख (Ladakh) की सरहद से सटे तमाम इलाकों को जोड़ने के लिए संचार सेवाओं को भी मजबूत करने में लगा हुआ है.

नई दिल्ली. पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी (Galwan Valley Face off) में एक सप्ताह पहले भारत और चीन के सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प (India-China Dispute) के बाद से ही दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया है. लद्दाख (Ladakh) में चीनी सेना को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए भारतीय जवान पूरी तरह से तैयार हैं. भारत चीन को सबक सिखाने के लिए चीनी बॉर्डर पर न केवल हथियारों और सैनिकों की संख्या बढ़ा रहा है, ब​ल्कि लद्दाख की सरहद से सटे तमाम इलाकों को जोड़ने के लिए संचार सेवाओं को भी मजबूत करने में लगा हुआ है.

चीन के साथ बढ़ते तनाव को देखते हुए लद्दाख से सटे सभी गांवों में संचार सविधा को मजबूत करने के लिए नया प्लान ​तैयार किया है. सरकार ने की योजना है कि लद्दाख में 134 डिजिटल सैटेलाइट फोन टर्मिनल स्थापित किए जाएं ​जिससे इन इलाकों में होने वाली चीनी गतिविधियों पर पैनी नजर रखी जा सके. लद्दाख के एग्जिक्यूटिव काउंसलर कुनचोक स्टांजी ने बताया कि पिछले 8 साल से यहां पर मोबाइल टावर लगाए जाने की कोशिश जारी है. लद्दाख से सटे 57 गांवों में संचार सेवाओं को जल्द ही मजबूत किया जाएगा. स्टांजी ने बताया कि लद्दाख में 24 टावर को लगाने की अनुमति मिल चुकी है जबकि 25 और मोबाइल टावर की जरूरत है.

दूसरी तरफ सेना प्रमुख एमएम नरवणे ने भी हाल में पूर्वी लद्दाख का दौरा किया और सेना की तैयारियों को जायजा लिया. खबर है कि सेना प्रमुख नरवणे ने बॉर्डर पर सेना की तैयारियों की जानकारी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दी. चीन से बढ़ते तनाव को देखते हुए भारत ने चीनी सीमा पर हजारों अतिरिक्त सैनिकों की तैनाती कर दी है. सैनिकों की संख्या बढ़ाए जाने के साथ ही
भारी संख्या में टैंक, इंफैंट्री कॉम्बैट व्हीकल्स और हॉवित्जर तोपों को भी तैनात किया गया है. थल सेना के साथ ही एयरफोर्स को भी अलर्ट कर दिया गया है. वायुसेना के सुखोई-30 एमकेआई और मिग-29 लगातार सीमा पर नजर जमाए हुए हैं.इसे भी पढ़ें :- 22 जून को बनी सहमति के बाद गलवान से चीन हटा रहा अपनी सेना और वाहन : सूत्र

चीन को करारा जवाब देने के लिए सेना को खुली छूट
अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक सरकार के एक सीनियर अधिकारी ने कहा है कि हालात से निपटने के लिए अब सेना को खुली छूट दे दी गई है. इसको लेकर हथियार, उपकरण और साजो-सामान को पहले ही चीन से लगने वाले 3488 किलोमीटर की सीमा पर तैनात कर दिया गया है. उन्होंने ये भी कहा कि बड़ी संख्या में सेना को बॉर्डर पर भी भेजा जा रहा है, जिससे कि वो हालात के मुताबिक चीन को करारा जवाब दे सके.

इसे भी पढ़ें :- लद्दाख के एक और इलाके में जमा हुई चीनी सेना, देखे गए कैंप और गाड़ियां- रिपोर्ट

बातचीत का अब तक नहीं निकला कोई नतीजा
सीमा पर चीन कई इलाकों को लेकर अपनी जिद पर अड़ा है. उनके झूठे दावों को भारत लगातार खारिज कर रहा है. ऐसे में अब तक बातचीत का कोई नतीजा नहीं निकला है. हालांकि दोनों देश अब भी बातचीत जारी रखने के लिए तैयार हैं. चीन के साथ बीजिंग और लद्दाख में कई दौर की बातचीत हो चुकी है. बातचीत का एकमात्र शर्त यह है कि चीन पहले की स्थिति बरकार रखे. भारत की ओर से कहा गया है कि एलएसी पर ऐसा न करने से सीमावर्ती क्षेत्रों में शांति कायम नहीं हो सकेगी.


First published: June 27, 2020, 9:10 AM IST





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments