Home India News जसवंत सिंह का निधन, PM मोदी सहित कई नेताओं ने जताया शोक

जसवंत सिंह का निधन, PM मोदी सहित कई नेताओं ने जताया शोक


नई दिल्ली. पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह (Jaswant singh) का लंबी बीमारी के बाद रविवार को यहां निधन हो गया. वह 82 वर्ष के थे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा के अन्य वरिष्ठ नेताओं ने सिंह के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि उन्होंने निष्ठापूर्वक भारत की सेवा की और उन्हें राजनीति तथा समाज से संबंधित मामलों में उनके अद्वितीय दृष्टिकोण के लिए याद किया जाएगा.

सिंह ने दिल्ली में सेना के रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल में अंतिम सांस ली. वह पूर्व प्रधानमंत्री दिवंगत अटल बिहारी वाजपेयी के करीबी माने जाते थे. सैन्य अस्पताल ने एक बयान जारी कर कहा, ‘बड़े दुख के साथ सूचित किया जा रहा है कि पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह का आज सुबह 6.55 बजे निधन हो गया. उन्हें 25 जून को भर्ती कराया गया था. आज सुबह दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हुआ.’

बयान में कहा गया कि विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम ने उन्हें बचाने का भरपूर प्रयास किया, लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका. पारिवारिक सूत्रों के मुताबिक उनका अंतिम संस्कार आज ही राजस्थान के जोधपुर में होगा. पूर्व सैन्य अधिकारी सिंह अगस्त 2014 में अपने घर में गिरने के बाद से बीमार थे. उन्हें सेना के रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल में भर्ती कराया गया था. इसके बाद से उन्हें कई बार अस्पताल में भर्ती कराया गया. इस साल जून में उन्हें दोबारा अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

प्रधानमंत्री ने अपने शोक संदेश में कहा, ‘जसवंत जी को राजनीति तथा समाज से संबंधित मामलों में उनके अद्वितीय दृष्टिकोण के लिए याद किया जाएगा. उन्होंने भाजपा को मजबूती देने में भी योगदान दिया. मैं उनके साथ हुए संवाद को याद कर रहा हूं. मेरी ओर से उनके परिवार और समर्थकों के प्रति संवेदनाएं. ओम शांति.’ पीएम मोदी ने कहा, ‘अटल जी की सरकार में उन्होंने वित्त, रक्षा और विदेश मंत्री जैसे महत्वपूर्ण पदों को संभाला और इन क्षेत्रों में गहरी छाप छोड़ी. उनके निधन से दुखी हूं.’2014 के लोकसभा चुनाव में सिंह को जब भाजपा ने टिकट नहीं दिया तो वह निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में राजस्थान के बाड़मेर से मैदान में उतरे थे. हालांकि उन्हें हार का मुंह देखना पड़ा था. जसवंत सिंह ने पश्चिम बंगाल के दार्जीलिंग संसदीय क्षेत्र का भी लोकसभा में प्रतिनिधित्व किया. प्रधानमंत्री ने जसवंत सिंह के पुत्र मानवेंद्र सिंह से फोन पर बात की और अपनी संवेदनाएं प्रकट कीं. मोदी ने कहा कि जसवंत सिंह बहुत बहादुरी से पिछले छह साल से अपनी बीमारी से लड़ रहे थे.

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट किया, ‘राजस्थान से ताल्लुक रखने वाले वरिष्ठ नेता एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री जसवंत सिंह जी के निधन से दुखी हूं.’ उन्होंने ईश्वर से सिंह की आत्मा की शांति और उनके परिवार को दुख सहन करने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना की.केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी उनके निधन पर शोक व्यक्त किया और कहा कि उनका निधन देश के लिए अपूरणीय क्षति है. उन्होंने ट्वीट किया, ‘सरकार व संगठन में विभिन्न पदों पर रहते हुए उन्होंने (जसवंत सिंह) अपनी कर्तव्यनिष्ठा से एक गहरी छाप छोड़ी. मैं उनके परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं. ॐ शांति.’

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी जसवंत सिंह के निधन पर शोक व्यक्त किया है. उन्होंने कहा कि जसवंत सिंह ने निष्ठापूर्वक भारत की सेवा की. राजनाथ सिंह ने लिखा, ‘जसवंत सिंह जी को उनकी बौद्धिक क्षमताओं और देश सेवा में बेजोड़ योगदान के लिए याद किया जाएगा. उन्होंने राजस्थान में भाजपा को मजबूती प्रदान करने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई. दुख की इस घड़ी में उनके परिवार और समर्थकों के प्रति मेरी संवेदनाएं. ऊॅं शांति.’

भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा ने कहा कि जसवंत सिंह के निधन का समाचार दुःखद है. उन्होंने कहा, ‘सरकार में विभिन्न पदों पर रहते हुए उन्होंने जन-जन के प्रति अपने कर्तव्यों का पालन करने में अपना प्रत्येक क्षण समर्पित कर दिया. जसवंत सिंह जी का जाना संगठन, समाज तथा देश के लिए एक अपूरणीय क्षति है. उनके परिवार के प्रति मेरी अपार संवेदनाएं.

गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने भी सिंह के निधन पर शोक व्यक्त किया है. सावंत ने ट्वीट किया, ‘भारत के विकास में उनके (जसवंत सिंह) शानदार योगदान को हमेशा याद किया जाएगा. शोकाकुल परिवार के प्रति मेरी ओर से संवेदनाएं. ऊॅं शांति.’





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments