Home World News दुनिया में कोरोना: बीते 24 घंटे में 1 लाख 62 हज़ार नए...

दुनिया में कोरोना: बीते 24 घंटे में 1 लाख 62 हज़ार नए केस मिले और 5400 की मौत


नई दिल्ली. ब्राजील (Brazil), अमेरिका (US) और भारत (India) में कोरोना संक्रमण (Coronavirus) कम्युनिटी ट्रांसमिशन की स्टेज में पहुंच चुका है. मंगलवार को ब्राजील में 40 हज़ार, अमेरिका में 36 हज़ार और भारत में 15 हज़ार से ज्यादा संक्रमण के नए मामले सामने आए हैं. मंगलवार को दुनिया भर में संक्रमण के 1 लाख 62 हज़ार नए केस सामने आए और कुल मामले बढ़कर 93 लाख से भी ज्यादा हो गए हैं. बीते 24 घंटे में संक्रमण से 5400 से ज्यादा लोगों ने अपनी जान गंवा दी जिसके बाद कुल मौतों की संख्या बढ़कर अब 4 लाख 78 हज़ार से भी ज्यादा हो गयी है. मेक्सिको, साउथ अफ्रीका, बांग्लादेश, पाकिस्तान और सऊदी अरब संक्रमण के हॉटस्पॉट बने हुए हैं.

 

#UN ने कोरोना वायरस से निपटने में वैश्विक सहयोग के अभाव की निंदा की
संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस ने कोविड-19 वैश्विक महामारी से निपटने में अंतरराष्ट्रीय सहयोग के ‘पूर्णतय: अभाव’ की निंदा करते हुए सचेत किया है कि कई देशों की कोरोना वायरस से अकेले निपटने की नीति इस संक्रमण को हरा नहीं पाएगी. गुतारेस ने एपी को दिए एक साक्षात्कार में कहा कि देशों को यह समझने की आवश्यकता है कि इस बीमारी से अकेले निपटने की कोशिश करके ‘वे ऐसे हालात पैदा कर रहे हैं, जो बेकाबू होते जा रहे हैं’ और इस संक्रमण से निपटने के लिए वैश्विक सहयोग सबसे महत्वपूर्ण है. उन्होंने कहा कि कोविड-19 चीन से शुरू होकर, यूरोप, फिर उत्तर अमेरिका और अब दक्षिण अमेरिका, अफ्रीका और भारत में फैल गया है तथा कुछ लोग इसके किसी भी समय दोबारा जोर पकड़ने की आशंका जता रहे हैं.गुतारेस ने कहा कि इसके बावजूद ‘कोविड-19 से निपटने के मामले में देशों के बीच समन्वय का पूर्णतय: अभाव है.’ उन्होंने कहा कि देशों को यह समझना आवश्यक है कि वे वैश्विक महामारी के उपचार, जांच तंत्र, टीका विकसित करने और उन तक सभी की पहुंच सुनिश्चित करने की दिशा में समन्वित प्रयास करके इस संक्रमण को मात दे सकते हैं. महासचिव ने कहा कि देश नौकरियां जाने, हिंसा बढ़ने और मानवाधिकार उल्लंघन के मामले बढ़ने समेत कोविड-19 के कारण पैदा हुई चुनौतियों से निपटने के लिए समन्वित राजनीतिक, आर्थिक एवं सामाजिक कदम उठाकर इस महामारी से असर को कम कर सकते हैं.

 

#दक्षिण अफ्रीका के एक स्कूल में 200 लोग संक्रमित
दक्षिण अफ्रीका के एक बोर्डिंग स्कूल में 200 से ज़्यादा बच्चों और स्टाफ़ कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं. स्कूल ने मंगलवार को इस बात की पुष्टि की है. ये स्कूल दक्षिण अफ्रीका के ग़रीब माने जाने ईस्टर्न केप प्रांत में है. स्कूल में बच्चे इसी महीने वापस लौटे थे. दक्षिण अफ्रीका में दर्ज किए गए संक्रमण के 101,590 मामलों में 15 प्रतिशत केस इसी प्रांत में है. समाचार एजेंसी एएफपी के मुताबिक़ ईस्टर्न केप प्रांत दक्षिण अफ्रीका का तीसरा सबसे ज़्यादा कोरोना प्रभावित राज्य है.

WHO की चेतावनी- बड़े देशों में फ़ैल रहा है कोरोना
विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि ज्यादा आबादी वाले देशों में कोरोना वायरस के संक्रमण के फैलने के कारण रोजाना रिकॉर्ड संख्या में मामले सामने आ रहे हैं और यह वायरस की वैश्विक गतिविधि में बदलाव को दर्शाता हैं. संगठन के आपात स्थिति के प्रमुख माइकल रयान ने सोमवार को मीडिया को बताया कि मामले इस लिए बढ़ रहे है, क्योंकि महामारी एक ही समय पर कई ज्यादा आबादी वाले देशों में फैल रही है.

रयान ने इस बात को भी खारिज किया कि ज्यादा जांच करने से मामले बढ़ रहे हैं. गौरतलब है कि भारत और अमेरिका समेत कुछ देशों ने संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी का कारण अधिक जांच करने को बताया है. उन्होंने कहा, ‘हम नहीं मानते हैं कि यह जांच करने की वजह से हो रहा है.’ रयान ने यह भी कहा कि कई देशों में अस्पताल में भर्ती किए जाने वाले मरीजों की संख्या में वृद्धि हुई है और मृतकों के आंकड़ों में इजाफा हुआ है. उन्होंने कहा कि निश्चित रूप से वायरस ने अपने पैर जमा लिए हैं। महामारी कई बड़े देशों में बढ़ रही है. रयान ने यह भी कहा कि अमेरिका, अन्य दक्षिण एशिया, पश्चिम एशिया और अफ्रीका में हालात खराब हो रहे हैं।

#ब्रिटेन में चार जुलाई से लॉकडाउन में दी जाएगी बड़ी ढील
ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने देश में चार जुलाई से लॉकडाउन में बड़ी ढील देने की मंगलवार को घोषणा की. पाबंदी में छूट के तहत नियमों का पालन करते हुए सिनेमा हॉल, संग्रहालय, बार, पब और रेस्तरां को जनता के लिए फिर से खोलने की अनुमति होगी. ब्रिटेन में 23 मार्च से ही लॉकडाउन लागू है। तीन महीने बाद पाबंदी में ढील के तहत इन स्थानों को सरकारी दिशा-निर्देश का पालन करते हुए काम करना होगा. ‘हाउस ऑफ कॉमन्स’ में जॉनसन ने कहा, ‘लंबे समय से देश में ठप गतिविधियों की फिर से शुरुआत होने वाली है. नए तरीके से सावधानी से कदम बढ़ाना होगा.’ उन्होंने कहा, ‘सरकार खोले जाने वाले हर क्षेत्र के लिए दिशा-निर्देश प्रकाशित करेगी ताकि कारोबार फिर से बहाल हो तथा लोग काम पर लौट सकें.’

जॉनसन ने कहा, ‘लेकिन वायरस गया नहीं है…अचानक से बढ़ोतरी हो सकती है, जिसके लिए स्थानीय स्तर पर उपायों की जरूरत होगी. हम राष्ट्रीय स्तर पर भी पाबंदी को फिर से लागू करने पर नहीं हिचकिचाएंगे.’ इससे पहले, थिएटर सहित अन्य कारोबारों को चार जुलाई से खोलने के फैसले पर मुहर लगाने के लिए मंगलवार को मंत्रिमंडल की बैठक हुई. कोविड-19 रणनीतिक समूह ने सामाजिक दूरी के तौर पर लोगों के बीच दो मीटर की दूरी बनाए रखने के नियमों की हिमायत की थी. प्रधानमंत्री ने कहा कि चार जुलाई से लोगों को सामाजिक दूरी के तौर पर एक मीटर की दूरी बनाकर रखना होगा.

#नेपाल में कोविड-19 के मामले बढ़कर 10 हजार से अधिेक हुए
नेपाल में मंगलवार को 538 नये मामले आने से देश में इसके कुल मामले बढ़कर 10 हजार से अधिक हो गए. स्वास्थ्य एवं जनसंख्या मंत्रालय ने कहा कि नये मामलों में 90 महिलाओं के मामले शामिल हैं. देश के 77 जिलों में से 76 जिलों में कोविड-19 के मामले सामने आ चुके हैं. नेपाल में कोरोना वायरस के मामले अब बढ़कर 10,099 हो गए हैं। देश में कोविड-19 से अभी तक 24 मरीजों की मौत हुई हैं.

#चीन में कोरोना वायरस के 29 नए मामले
चीन में मंगलवार को कोरोना वायरस के 29 नए मामले सामने आए. राजधानी बीजिंग में संक्रमण के 13 मामलों की पुष्टि हुई है और यहां पर 249 संक्रमित लोगों का उपचार चल रहा है. चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचसी) के मुताबिक, देश में 29 नए मामलों का पता चला है. इसमें से सात मरीजों में किसी भी तरह के लक्षण नहीं मिले. आयोग ने कहा है कि सोमवार तक बिना लक्षण वाले 99 मरीजों को चिकित्सकीय निगरानी में रखा गया है. मई के अंत में कुछ नए मामलों के सामने आने के बाद से बीजिंग में लाखों लोगों की जांच की गयी. बीजिंग में 11 से 22 जून के बीच संक्रमण के 249 मामले आए. सभी मरीजों का अस्पतालों में इलाज चल रहा है.

निकाय सरकार के प्रवक्ता झू हेजियान ने कहा कि बीजिंग ने कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने से रोकने के लिए प्रभावी कदम उठाए हैं और राजधानी में नए मामले घट रहे हैं. हालांकि कड़े उपाए लागू रहेंगे क्योंकि महामारी पर काबू पाना अब भी जटिल कार्य बना हुआ है. अगले कदम के तौर पर बीजिंग कड़े कदम उठाएगा और रेस्तरां, अस्पताल और स्कूलों में रोकथाम के उपायों को लागू करेगा. बीजिंग स्वास्थ्य आयोग ने कहा कि शनिवार तक राजधानी में 23 लाख लोगों की जांच की गयी. चीन में सोमवार को संक्रमित लोगों की कुल संख्या 83,418 हो गयी. इनमें से 359 मरीजों का उपचार चल रहा है.

#पाकिस्तान में कोविड-19 के कुल मामले बढ़कर 1,85,034 हुए
पाकिस्तान में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस से 105 और संक्रमित लोगों की मौत होने से देश में मृतक संख्या बढ़कर 3,695 हो गई. वहीं कोविड-19 से संक्रमित मरीजों की कुल संख्या बढ़कर 185,034 हो गई है. यह जानकारी पाकिस्तान के स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को दी. स्वास्थ्य अधिकारियों के अनुसार देश में अभी तक कोविड-19 की कुल 11,26,761 जांच हुई हैं जिनमें से सोमवार को हुई 24,599 जांच शामिल हैं. मंत्रालय ने कहा कि कोविड-19 के 3,946 नये मामले सामने आने से पाकिस्तान में इसके कुल मामले बढ़कर 185,034 हो गए. पिछले 24 घंटे में 105 और मरीजों की मौत होने से मृतकों की संख्या बढ़कर 3,695 हो गई. सिंध प्रांत में सबसे अधिक 71,092 मामले सामने आए है, इसके बाद पंजाब प्रांत में 68,308, खैबर पख्तूनख्वा में 22,633, इस्लामाबाद में 11,219, बलूचिस्तान में 9,587, गिलगित-बाल्टिस्तान में 1,326 और पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में 869 मामले सामने आये हैं.

#सऊदी अरब ने महामारी के कारण हज सीमित किया
पूरी दुनिया के मुसलमान हज के लिए मक्का-मदीना जाने की राह पूरे साल देखते हैं, लेकिन अब उन्हें अगले साल तक मुकद्दस (पवित्र) यात्रा के लिए इंतज़ार करना होगा. दरअसल, कोरोना वायरस महामारी के कारण सऊदी अरब ने इस साल हज को सीमित कर दिया है. इस बार हज सिर्फ देशवासी और वहां रहने वाले अलग अलग मुल्कों के लोग ही कर पाएंगे. सऊदी अरब ने सोमवार देर रात कहा कि इस साल मक्का में सीमित संख्या में लोगों को हज की इजाजत होगी. देशवासियों के अलावा पहले से ही देश में मौजूद अलग अलग देशों के लोगों को हज के लिए इजाजत दी जाएगी. सऊदी अरब के हज मंत्रालय ने कहा कि दुनिया भर के लोगों के स्वास्थ्य को बचाने के लिए हज को सीमित किया गया, क्योंकि बड़ी संख्या में लोगों के जमा होने से कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने का खतरा होगा. सरकार ने कहा कि प्राथमिकता यह है कि मुस्लिम महफूज तरीके से हज कर सकें.

#ट्रंप की रैली के लिए काम कर रहे दो और कर्मचारी कोविड-19 की चपेट में आए
अमेरिका के ओकलहोमा के टुल्सा में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की प्रचार रैली के लिए काम कर रहे दो और सदस्य कोरोना वायरस से संक्रमित पाये गए हैं. ट्रंप के प्रचार प्राधिकारियों ने सोमवार को एक बयान में बताया कि शनिवार की रैली के लिए टीम में शामिल दो कर्मचारी ओकलहोमा से बाहर जाने के लिए उड़ान में सवार होने से पहले संक्रमित पाये गए. दोनों कर्मचारियों को पृथक कर दिया गया है और उनके सम्पर्क में आये लोगों का पता लगाने का कार्य शुरू कर दिया गया है. इन दोनों कर्मचारियों के संक्रमित होने की खबर छह कर्मचारियों के शनिवार की रैली से कुछ ही घंटे पहले कोरोना वायरस से संक्रमित पाये जाने की सूचना के बाद आयी है. उन छह कर्मचारियों में दो सीक्रेट सर्विस एजेंट भी शामिल थे.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments