Home Entertainment News न्यूज 18 हिन्दी के Live शो पर बोले मनोज बाजपेयी, पावरफुल लॉबी...

न्यूज 18 हिन्दी के Live शो पर बोले मनोज बाजपेयी, पावरफुल लॉबी ने मेरा भी नुकसान कराया है


मनोज बाजपेयी का बेबाक बयान.

मनोज बाजपेयी (Manoj Bajpayee) ने कहा कि बॉलीवुड की पावरफुल ने दबे सुर मेरी भी आलोचना की है. लेकिन मुझे कभी फर्क नहीं पड़ा.

मुंबई. अपनी फिल्म ‘भोंसले’ को लेकर बॉलीवुड एक्‍टर मनोज बाजपेयी (Manoj Bajpayee) और प्रोड्यूसर संदीप कुमार ने न्यूज 18 से बातचीत की. जब मनोज बाजपेयी से पूछा गया कि वो बॉलीवुड की पावरफुल लॉबी को लेकर क्या सोचते हैं, तो उन्होंने पहली बात कही कि वो इस बातचीत में स्वर्गीय सुशांत सिंह राजपूत को नहीं लाना चाहते. लेकिन उन्होंने लॉबी को लेकर अपनी बात खी. मनोज बाजपेयी ने कहा, “पावरफुल लॉबी के अपने स्वार्थ होते हैं. इससे मुझे ये नुकसान हुआ कि मैं जो फिल्में चाहता था, जिस तरह का काम करना चाहता था, वो पावरफुल लॉबी के लोग न प्रोड्यूस करते हैं, न डायरेक्ट करना चाहते हैं और ना उसमें एक्ट करना चाहते थे.”

खुद पर इस लॉबी के हुए प्रभाव के बारे में मनोज कहते हैं, “इस लॉबी के लोगों ने दबे सुर में मेरी आलोचना की. शुरुआत में मुझे थोड़ी परेशानी हुई. लेकिन मेरा कभी सीधा कोई टकराव नहीं हुआ.”

मौजूदा बहस को लेकर मनोज ने कहा कि हां ये सच है कि पावरफुल लॉबी होती है. मेरे कहने से ऐसा नहीं है कोई नया सच सामने आएगा. असल में लोग सबकुछ जानते हैं. लेकिन इसके बाद भी मैं इस पूरे मसले पर जमकर बात करूंगा, लेकिन ये सही समय नहीं है. एक शख्स जब हमारे बीच नहीं है तो उसकी गरिमा का खयाल रखना चाहिए. बाकी इंडस्ट्री को लेकर मैं जरूर कभी पूरी बात कहूंगा. मौजूदा दौर में जो सवाल उठ रहे हैं उसको ध्यान में रखकर इंडस्ट्री को खुद को सुधारना चाहिए. लेकिन कई शिकायतें स्वार्थवश भी हैं. इसलिए ऐसे समय में मैं इस पूरे मसले से इतना कहकर हटना चाहूंगा.यह भी पढ़ेंः अनुपम खेर ने शेयर किया अपनी मां के साथ डांस वीडियो, दिया ये मैसेज

एक बार पहले भी न्यूज 18 से बातचीत करते हुए मनोज बाजपेयी ने बेबाकी से कहा था कि भले ही आप बॉलीवुड में कोई मुकाम हासिल कर लें, लेकिन हकीकत यह है कि फिल्म इंडस्ट्री में ‘A’ लिस्टर जिन्हें माना जाता है, उन्हीं सो कोल्ड ‘A’ स्टार्स से जब तक आपको इशारा नहीं मिलेगा तब तक आप उनकी लॉबी में जाकर उनके तलवे न चाटने शुरू कर दें और उनकी हर बात में हामी भरें, तभी जाकर आप उनकी लिस्ट में शामिल होते हैं. यह एक तरह का मानसिक फ्रस्ट्रेशन है और मैं इस समस्या से पिछले 25 साल से जूझ रहा हूं.


First published: June 23, 2020, 10:37 PM IST





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments