Home India News 'सरेंडर मोदी' वाले बयान पर भड़की BJP, कहा- राहुल के पूर्वजों ने...

‘सरेंडर मोदी’ वाले बयान पर भड़की BJP, कहा- राहुल के पूर्वजों ने किया था चीन के सामने आत्मसमर्पण


बीजेपी नेता राहुल गांधी पर किया पलटवार (फाइल फोटो)

राहुल गांधी के ‘सरेंडर मोदी’ वाले बयान पर बीजेपी (BJP) ने पलटवार किया है. बीजेपी नेता रविंदर रैना ने कहा कि राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के पूर्वजों ने चीन के सामने आत्मसमर्पण किया और राष्ट्र को पीछे कर दिया.

नई दिल्ली. लद्दाख (Ladakh) में एलएसी (LAC) पर चीनी सेना से हिंसक झड़प में 20 भारतीय जवानों के शहीद होने के मसले पर कांग्रेस (Congress) लगातार मोदी सरकार को घेर रही है. गलवान संकट को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने पीएम मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) वास्तव में ‘सरेंडर मोदी’ हैं. राहुल के इस बयान पर बीजेपी भड़क गई. जम्मू-कश्मीर के बीजेपी अध्यक्ष रविंदर रैना ने राहुल गांधी के बयान पर पलटवार किया है. उन्होंने गांधी-नेहरू परिवार पर निशाना साधते हुए कहा कि राहुल गांधी के पूर्वजों ने चीन के सामने आत्मसमर्पण किया था और राष्ट्र को पीछे कर दिया.

वहीं, शाहनवाज हुसैन ने कहा, ‘देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए जिन शब्दों का इस्तेमाल राहुल गांधी कर रहे हैं, वैसे अपमानजनक शब्दों का इस्तेमाल दुश्मन देश के नेता भी नहीं करते. लेकिन राहुल गांधी लगातार ‘प्रधानमंत्री’ और ‘देश’ दोनों का अपमान करते जा रहे हैं. इसके लिए उन्हें माफी मांगनी चाहिए. उन्होंने कहा कि जब से चीन और भारत के बीच तनाव पैदा हुआ है, उस दिन से ही राहुल गांधी पीएम मोदी का अपमान करते नजर आ रहे हैं. शाहनवाज ने कहा कि राहुल गांधी सारी मर्यादा तोड़ रहे हैं.

राहुल ने नरेंद्र मोदी को कहा ‘सरेंडर मोदी’

बता दें कि राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, ‘जिसमें उन्होंने एक विदेशी प्रकाशन के आलेख को भी संलग्न किया है. उसका शीर्षक है ‘भारत की चीन के प्रति तुष्टीकरण की नीति का खुलासा हुआ.’ उन्होंने ट्वीट किया, ‘नरेंद्र मोदी वास्तव में सरेंडर मोदी हैं.’ इससे पहले, लद्दाख मामले पर सरकार से लगातार सवाल कर रहे कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को यह आरोप लगाया था कि प्रधानमंत्री ने चीनी आक्रामकता के आगे भारतीय भू-भाग चीन को सौंप दिया है.

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी ने लद्दाख मामले पर शुक्रवार को बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में कहा था कि न कोई हमारे क्षेत्र में घुसा और न ही किसी ने हमारी चौकी पर कब्जा किया है. राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी के सर्वदलीय बैठक में दिए गए बयान को लेकर ट्वीट किया था, ‘प्रधानमंत्री ने चीनी आक्रामकता के आगे भारतीय भू-भाग चीन को सौंप दिया है. अगर भूमि चीन की थी: तो हमारे सैनिक क्यों मारे गए? वे कहां मारे गए.’

ये भी पढ़ें- Solar Eclipse: दिल्ली में कुछ देर बाद छा जाएगा अंधेरा, देख सकेंगे सूर्यग्रहण

भारत-चीन सीमा पर स्थिति के बारे में चर्चा करने के लिए शुक्रवार को हुई सर्वदलीय बैठक पर सरकार ने एक बयान में कहा, ‘शुरू में ही प्रधानमंत्री ने स्पष्ट किया था कि न तो वहां हमारी सीमा में कोई घुसा हुआ है, न ही हमारी कोई चौकी किसी दूसरे के कब्जे में है.’ प्रधानमंत्री कार्यालय ने शनिवार को कहा कि सर्वदलीय बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा की गई टिप्पणियों की शरारतपूर्ण व्याख्या करने के प्रयास किए जा रहे हैं. पीएमओ ने स्पष्ट किया कि एलएसी के संबंध में मोदी की टिप्पणियों का आशय हमारे सशस्त्र बलों की वीरता के परिणामस्वरूप उत्पन्न स्थिति से था, जिन्होंने गलवान घाटी में अतिक्रमण की चीनी सैनिकों की कोशिश को विफल कर दिया.


First published: June 21, 2020, 4:34 PM IST





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments