Home India News 22 जून को बनी सहमति के बाद गलवान से चीन हटा रहा...

22 जून को बनी सहमति के बाद गलवान से चीन हटा रहा अपनी सेना और वाहन: सूत्र


चीन ने गलवान इलाके से अपनी सेनाओं को हटाना शुरू कर दिया है

पूर्वी लद्दाख (Eastern Ladakh) की गलवान घाटी (Galwan Valley) में भारत और चीनी सेनाओं (India-China Troops)a के बीच हुई हिंसक झड़प में भारत के 20 सैनिकों के शहीद होने के बाद दोनों देशों की सेनाओं के बीच कई दौर की वार्ताएं हुईं जिसके बाद दोनों सेनाओं को पीछे करने पर सहमति बनी थी.

नई दिल्ली. पूर्वी लद्दाख (Eastern Ladakh) की गलवान घाटी (Galwan Valley) में भारतीय और चीनी सेना (Indian & Chinese Troops) के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद चीनी सेना ने गलवान इलाके से अपनी सेनाओं और वाहनों को हटाना शुरू कर दिया है. रक्षा सूत्रों ने गुरुवार को यह जानकारी दी. गलवान घाटी में दोनों देशों के बीच हुई हिंसक झड़प में भारत के 20 सैनिकों के शहीद होने के बाद दोनों देशों की सेनाओं के बीच कई दौर की वार्ताएं हुईं जिसके बाद दोनों सेनाओं को पीछे करने पर सहमति बनी थी. सूत्रों ने जानकारी दी कि 22 जून को दोनों देशों के बीच करीब 12 घंटे चली मेजर-जनरल स्तर की वार्ता में चीन से यह भरोसा दिलाया था कि वह अपनी सेनाओं को सामने की बजाय गहराई वाले स्थानों पर तैनात करेगा और चीन ने इस पर अमल करना शुरू कर दिया है.

बता दें भारत और चीन बीच 5 मई से लद्दाख में तनातनी बनी हुई है. लद्दाख की गलवान घाटी (Galwan Valley) में 15-16 जून की दरम्यानी रात दोनों देशों के बीच की ये तनातनी हिंसक झड़प में बदल गई जिसमें भारत के 20 सैनिक शहीद हो गए. चीन को भी इसमें अच्छा खासा नुकसान पहुंचा. तनातनी शुरू होने के बाद से ही दोनों देशों के बीच सैन्य और कूटनीतिक स्तर की कई वार्ताएं भी हुईं. जिसके बाद दोनों देश अपनी सेनाओं को पीछे करने को राजी हो गए हैं. बता दें सीमा पर ये 45 साल में अब तक की सबसे बड़ी हिंसा की घटना रही.

टकराव वाली जगहों से हटने का दोनों देशों ने लिया फैसला
गौरतलब है कि पूर्वी लद्दाख में पिछले छह हफ्तों से चल रहे गतिरोध में उलझे बलों को पीछे हटाने का फैसला सोमवार को वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर चीन की तरफ मोलदो में भारत और चीन के वरिष्ठ कमांडरों के बीच चली बैठक में लिया गया.ये भी पढ़ें- चीन ने अरुणाचल, सिक्किम और उत्तराखंड सीमा के पास बढ़ाए सैनिक और हथियार

सूत्रों ने लेफ्टिनेंट जनरल स्तर पर हुई दूसरी बैठक का ब्योरा देते हुए बताया कि वार्ता “सौहार्दपूर्ण, सकारात्मक और रचनात्मक माहौल’’ में हुई और यह निर्णय लिया गया कि दोनों पक्ष पूर्वी लद्दाख में टकराव वाले सभी स्थानों से हटने के तौर तरीकों को अमल में लाएंगे.

एक सूत्र ने कहा, “पीछे हटने को लेकर परस्पर सहमति बनी है. पूर्वी लद्दाख में टकराव वाले सभी स्थानों से हटने के तौर-तरीकों पर चर्चा की गई और दोनों पक्ष इसे अमल में लाएंगे.”

सूत्रों ने कहा कि वहां तैनात कमांडर पीछे हटने की विस्तृत रुपरेखा को अंतिम रूप देने के लिए अगले कुछ हफ्तों में कई बैठकें करेंगे. (भाषा के इनपुट सहित)


First published: June 25, 2020, 4:26 PM IST





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments