Home Sports News 750 विकेट लेने वाले दिग्‍गज भारतीय क्रिकेटर का निधन, जेल से डाकू...

750 विकेट लेने वाले दिग्‍गज भारतीय क्रिकेटर का निधन, जेल से डाकू भेजते थे बधाई पत्र


इस दिग्‍गज खिलाड़ी ने लिए क‍हा जाता था कि अगर वें किसी और समय में पैदा हुए होते तो निश्चित रूप से टीम इंडिया (Team India) का अहम हिस्सा होते.

इस दिग्‍गज खिलाड़ी ने लिए क‍हा जाता था कि अगर वें किसी और समय में पैदा हुए होते तो निश्चित रूप से टीम इंडिया (Team India) का अहम हिस्सा होते.

नई दिल्‍ली. भारत के दिग्‍गज घरेलू क्रिकेटर राजेन्‍द्र गोयल  (Rajinder Goel) का रविवार को निधन हो गया. वो 77 साल के थे. गोयल पिछले कुछ समय से बीमार चल रहे थे और उन्‍होंने रविवार को अपने घर पर आखिरी सांस ली.  गोयल की गिनती भारत के घरेलू दिग्‍गजों में होती थी. उन्‍होंने हरियाणा की तरफ से अपने 24 साल के  करियर में कुल 750 विकेट लिए. उन्‍होंने पंजाब और दिल्‍ली का भी प्रतिनिधित्‍व किया. गोयल के नाम रणजी ट्रॉफी में सबसे ज्‍यादा विकेट लेने का रिकॉर्ड है. उन्‍होंने रणजी ट्रॉफी में कुल  640 विकेट लिए थे.  2017 में भारतीय क्रिकेट में उनके योगदान के लिए बीसीसीआई (BCCI) ने सीके नायडु लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड से नवाजा था.

रणजी ट्रॉफी के इतिहास में सर्वाधिक 640 और घरेलू क्रिकेट में कल 750 से ज्यादा विकेट लेने के बावजूद उन्हें कभी टीम इंडिया में खेलने का मौका नहीं मिला. हालांकि राजेंद्र गोयल ने 1964-65 में श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट में हिस्सा लिया था, लेकिन यह अनाधिकारक टेस्ट मैच था. उनके बारे में कहा जाता है कि अगर वह किसी और समय में पैदा हुए होते तो निश्चित रूप से टीम इंडिया (Team India) का अहम हिस्सा होते. ऐसा इसलिए क्योंकि उनके खेलने के दिनों में बिशन सिंह बेदी (Bishan Singh Bedi) टीम का हिस्सा थे, जिसकी वजह से राजेंद्र गोयल का भारतीय टीम में खेलने का सपना, महज सपना ही रह गया.

डाकू भूरा सिंह यादव ने जेल से दी बधाई
राजेंद्र गोयल (Rajinder Goel) के बारे में एक किस्सा मशहूर है कि उन्हें ग्वालियर जेल में बंद एक डकैत ने चिट्ठी लिखी थी. दरअसल, 1985 के अप्रैल महीने के दूसरे-तीसरे हफ्ते में डाकिया यह पत्र देकर गया तो परिवार घबरा गया क्योंकि भेजने वाले का नाम डकैत भूरा सिंह यादव लिखा था. भूरा सिंह यादव उस समय का कुख्यात डकैत था जिसका उत्तर प्रदेश और मध्यप्रदेश में खौफ था. लेकिन 8 अप्रैल को ग्वालियर जेल से लिखे इस पत्र को पढ़ने के बाद गोयल रो दिए. गोयल ने खुद बताया था कि डकैत भूरा सिंह यादव (Bhura Singh Yadav) ग्वालियर जेल में बंद था. जब मैंने उसे पढ़ा तो मुझे बहुत खुशी हुई और मैंने उसका जवाब भी भेजा. दरअसल, भूरा सिंह ने रणजी ट्रॉफी में 600 विकेट लेने पर उन्‍हें बधाई दी थी. राजेंद्र ने कहा था कि शायद वह भारत के पहले क्रिकेटर होंगे, जिसके प्रदर्शन की एक डकैत ने भी सराहना की.यह भी पढ़ें:

आत्‍महत्‍या करना चाहता था 2 वर्ल्‍ड कप जीतने वाला ये भारतीय क्रिकेटर, कहा-लाइट बंद करने में भी लगता था डर

फादर्स डे पर कोहली की बड़ी बात, कहा- आगे बढ़ने के लिए हमेशा अपने रास्‍ते की तलाश करें, पिता…

घरेलू क्रिकेट में प्रदर्शन

बाएं हाथ के स्पिनर राजेंद्र गोयल ने 157 फर्स्ट क्लास मैच खेले. आपको जानकर जरूर हैरानी होगी कि उन्होंने इन मैचों में कुल 750 विकेट हासिल किए. इनमें से 640 विकेट उन्होंने 123 रणजी ट्रॉफी मैचों में लिए. उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 55 रन देकर आठ विकेट रहा. राजेंद्र गोयल की औसत 18.58 और इकोनॉमी रेट महज 2.10 है. इस बेहतरीन खिलाड़ी ने 59 बार एक पारी में पांच या उससे अधिक विकेट लिए, जबकि मैच में कुल 18 बार 10 या उससे ज्यादा विकेट चटकाए.


First published: June 21, 2020, 9:23 PM IST





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments