Home Make Money कोरोना वायरस खा जाएगी आपकी कमाई, इन राज्यों के लोगों को होगा...

कोरोना वायरस खा जाएगी आपकी कमाई, इन राज्यों के लोगों को होगा सबसे ज्यादा नुकसान


COVID-19 के बाद भारत में आय में असमानता का अंतर कम हो जायेगा

स्टेट बैंक की शोध रिपोट ‘इकोरैप’(SBI Ecowrap) में यह कहा गया है. रिपोर्ट में कहा गया है कि वित्त वर्ष 2020- 21 के दौरान ऑल इंडिया लेवल पर प्रति व्यक्ति आय 5.4 प्रतिशत घटकर 1.43 लाख रुपए सालाना रह जाएगी.

मुंबई. कोराना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) के बाद देश में विभिन्न राज्यों में लोगों की आय का अंतर कम हो जायेगा. इस दौरान धनी राज्यों की आय में गरीब राज्यों के मुकाबले अधिक कमी आने की संभावना है. स्टेट बैंक की शोध रिपोर्ट ‘इकोरैप’(SBI Ecowrap) में यह कहा गया है. रिपोर्ट में कहा गया है कि वित्त वर्ष 2020- 21 के दौरान ऑल इंडिया लेवल पर प्रति व्यक्ति आय 5.4 प्रतिशत घटकर 1.43 लाख रुपए सालाना रह जाएगी. रिपोर्ट के अनुसार चालू वित्त वर्ष के दौरान महाराष्ट्र, गुजरात, तेलंगाना और तमिलनाडु जैसे धनी माने जाने वाले शहरों की प्रति व्यक्ति आय (per capita income) में 10 से 12 प्रतिशत तक की गिरावट आने का अनुमान है वहीं मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, बिहार, ओडिशा जैसे राज्यों में जहां प्रति व्यक्ति आय राष्ट्रीय औसत से कम है, प्रति व्यक्ति आय में आठ प्रतिशत से कम की गिरावट आने का अनुमान है.

एसबीआई की शोध रपट में कहा गया है, हमारा मानना है कि कोविड-19 महामारी के बाद भारत में लोगों की आय में असमानता के बीच का अंतर कम हो जायेगा. इसकी वजह यह होगी कि इस महामारी के दौरान धनी राज्यों की आय में गरीब राज्यों की आय के मुकाबले अधिक गिरावट आयेगी. जर्मनी में ‘जर्मनी की दीवार’ (1989) के गिरने के बाद भी असमानता में कमी का ऐसा ही अनुभव हुआ था.

यह भी पढ़ें- यात्रियों को बड़ी राहत! इस तारीख तक बुक ट्रेन टिकट का पूरा पैसा लौटाएगा रेलवे, जानें रिफंड का नियम

GDP में गिरावट से ज्यादा है प्रति व्यक्ति आय में कमीरिपोर्ट में कहा गया है कि प्रति व्यक्ति आय में आने वाली यह गिरावट वर्तमान मूल्यों पर आधारित जीडीपी में आने वाली 3.8 प्रतिशत की गिरावट से ऊंची है. वैश्विक स्तर पर भी 2020 में प्रति व्यक्ति जीडीपी में आने वाली 6.2 प्रतिशत की गिरावट दुनिया के सकल घरेलू उत्पाद में आने वाले 5.2 प्रतिशत की गिरावट से ऊंची रहेगी.

धनी राज्य ज्यादा होंगे प्रभावित
रिपोर्ट, में कहा गया है कि जिन राज्यों की प्रति व्यक्ति आय ऑल इंडिया लेवल के औसत से ऊंची है, ऐसे धनी राज्य प्रति व्यक्ति आय के मामले में अधिक प्रभावित होंगे. इसके मुताबिक दिल्ली में प्रति व्यक्ति आय में 15.4 प्रतिशत की गिरावट और चंडीगढ़ में 13.9 प्रतिशत की संभावित गिरावट अखिल भारतीय स्तर पर प्रति व्यक्ति आय में आने वाली 5.4 प्रतिशत की गिरावट के मुकाबले करीब तीन गुणा अधिक होगी. कुल मिलाकर आठ राज्यों और संघ शासित प्रदेशों की प्रति व्यक्ति आय में इस दौरान दहाई अंक में गिरावट आने का अनुमान है, यह सबसे ज्यादा परेशानी वाली बात है. ये राज्य जिनकी प्रति व्यक्ति आय में दहाई अंक की गिरावट आ सकती है वह राज्य देश की जीडीपी में 47 प्रतिशत तक का योगदान रखते हैं.

यह भी पढ़ें- 7 दिन में निपटा लें PAN से जुड़ा ये काम, नहीं तो देना पड़ सकता है 10,000 रुपए का जुर्माना

रेड जोन वाले इलाके में लॉकडाउन का ज्यादा असर
रिपोर्ट में कहा गया है इसके पीछे सच्चाई यह है कि ये शहरी इलाके (रेड जोन वाले इलाके) हैं जहां लॉकडाउन को पूरी गंभीरता से लागू किया गया. बाजारों को बंद रखा गया, शॉपिंग मॉल और बाजार परिसर बंद रहे जिससे इन क्षेत्रों की आय पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा. यहां तक कि बाजार खुलने के बाद भी इन बाजारों में ग्राहकों की संख्या अभी भी सामान्य दिनों के मुकाबले 70 से 80 प्रतिशत तक कम है. रपट में वित्त वर्ष 2020- 21 के दौरान जीडीपी में 6.8 प्रतिशत गिरावट आने का अनुमान लगाया गया है. वहीं इसमें कहा गया है कि देश में वित्त वर्ष 2021- 22 के दौरान ‘अंग्रेजी के वी’ आकार की तीव्र वृद्धि दर्ज की जायेगी. ऐसा तुलनात्मक आधार वर्ष अनुकुल रहने की वजह से होगा.


First published: June 23, 2020, 4:17 PM IST





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Bihar Election 2020 Live Updates: पीएम मोदी थोड़ी देर में करेंगे सासाराम में रैली, चिराग को लेकर रुख का इंतजार

बिहार चुनाव समाचार (Bihar Election News): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) और राहुल गांधी (Rahul Gandhi) बिहार चुनाव के लिए अलग-अलग विधानसभा क्षेत्रों...

Recent Comments