Home Make Money कोरोना संकट के बीच बढ़ाया मदद का हाथ, लोगों को रहने के...

कोरोना संकट के बीच बढ़ाया मदद का हाथ, लोगों को रहने के लिए फ्री में दे दी पूरी बिल्डिंग


कोरोना संकट के बीच एक बिल्‍डर ने अपने तैयार प्रोजेक्‍ट को प्रवासी नौकरीपेशा और कामगारों के लिए खोल दिया है. इसमें रहने वालों से कोई किराया नहीं लिया जा रहा है.

कोरोना संकट के बीच लाखों लोगों की नौकरी चली गई (Job Loss) तो करोड़ों का रोजगार छिन गया. वहीं, ज्‍यादातर कंपनियों ने कर्मचारियों की सैलरी काट (Salary Cut) ली. ऐसे में दूसरे राज्‍यों में काम करने वालों के सामने आर्थिक संकट (Economic Crisis) खड़ा हो गया. इस बीच गुजरात के सूरत (Surat) में एक बिल्‍डर ने अपनी बिल्डिंग ऐसे लोगों के लिए खोल दी, जिसमें किसी से कोई किराया (Flats Without Rent) नहीं लिया जा रहा है.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    September 14, 2020, 9:55 PM IST

केतन पटेल

सूरत. देश के अलग-अलग राज्‍यों से नौकरी और रोजगार (Employment) के लिए गुजरात (Gujarat) के सूरत पहुंचे लोगों का कोरोना संकट के बीच गुजारा करना मुश्किल हो रहा है. ऐसे में वे अपने गांव लौटने की तैयारी कर रहे हैं. इस बीच, ऐसे लोगों की मदद के लिए सूरत (Surat) के एक बिल्डर ने हाथ बढ़ाया है. बिल्डर ने अपनी नई स्कीम के फ्लैट्स ऐसे लोगों के लिए खोल दिए हैं. उसने ये फ्लैट्स बिना कोई किराया (Without Rent) लिए इन प्रवासी नौकरीपेशा और कामगारों (Migrant Workers) को देने का फैसला लिया है.

बिल्डिंग में रहने आए लोगों से नहीं लिया जा रहा है किराया
कोरोना वायरस (Coronavirus in India) के प्रकोप से फैली आर्थिक बदहाली (Economic Crisis) के बाद कई परिवार अपने गांव जाने को मजबूर हो रहे हैं. ऐसे में सूरत के एक बिल्डर ने दूसरे राज्‍यों से आए लोगों की मदद के लिए पूरी बिल्डिंग दे दी है, जहां रहने वालों से कोई किराया नहीं लिया जा रहा है. इस बिल्डिंग में रहने वाले लोगों को सिर्फ मेनटेनेंस (Maintenance) देना है. दरअसल, ओलपाड के उमरा में रुद्राक्ष लेक पैलेस नाम का एक प्रोजेक्ट बनकर तैयार हुआ. फिलहाल उन्‍हें खरीदने के लिए कोई नहीं आ रहा है. ऐसे में बिल्डर ने कोरोना संकट से परेशान लोगों को रहने के लिए फ्री घर (Free Flats) दिया है.ये भी पढ़ें- छोटे कारोबारियों के लिए बड़ी खबर! केंद्र सरकार ने MSMEs को दी राहत, कॉरपोरेट समूह को कहा जल्‍द करें बकाया भुगतान

सैलरी कम होने या नौकरी जाने से हो रही आर्थिक दिक्‍कत
रुद्राक्ष लेक पैलेस के बिल्‍डर प्रकाश भालानी (Builder Prakash Bhalani) ने कहा कि 92 फ्लैट में से 42 फ्लैट में लोगों ने रहना शुरू भी कर दिया है. उन्‍होंने कहा कि रोजगार की उम्‍मीद के साथ कई परिवार सूरत शिफ्ट हुए. लॉकडाउन और फिर अनलॉक में कंपनियों ने या तो सैलरी काट (Salary Cut) ली या छंटनी (Layoffs) कर दी. इसके बाद ऐसे लोगों के लिए घर का किराया (House Rent) मुसीबत साबित हो रहा था. भालानी ने बताया कि जब हमने सोशल मीडिया पर फ्री फ्लैट्स देने की घोषणा की तो जरूरतमंद लोग तुरंत हमारे पास पहुंचने शुरू हो गए.

ये भी पढ़ें- Motorola ने लॉन्‍च किया 5000mAh बैटरी वाला Moto E7 Plus, जानें सभी फीचर्स और प्राइस

हर परिवार से ले रहे हैं सिर्फ 1500 रुपये महीने मेनटेनेंस
बिल्डिंग में रहने आईं आशा कुमावत कहती हैं कि जब तक हालात सामान्य नहीं होते रुद्राक्ष पैलेस में रहने वाले किसी भी व्‍यक्ति या परिवार से किराया नहीं लिया जाएगा. इससे हमें बहुत सहूलियत हुई है. भालानी ने कहा कि 92 फ्लैट्स में लगभग आधे भर गए हैं. बिल्डर के मुताबिक, फिलहाल हर परिवार से केवल 1,500 रुपये महीने मेनटेनेंस के तौर पर लिए जाएंगे. अगर सभी फ्लेट में लोग रहने आ जाते हैं तो महीने का मेनटेनेंस केवल 1,000 रुपये कर दिया जाएगा.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments