Home India News बिहार रेजिमेंट की शौर्यगाथा बताने वाला वीडियो सेना ने किया ट्वीट, सैनिकों...

बिहार रेजिमेंट की शौर्यगाथा बताने वाला वीडियो सेना ने किया ट्वीट, सैनिकों को बताया ‘बैटमैन’


बिहार रेजिमेंट के कर्नल संतोष बाबू और 12 अन्य सैनिक इस हफ्ते चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में शहीद हो गए थे (फोटो- Twitter, वीडियो ग्रैब)

भारतीय सेना (Indian Army) ने कर्नल संतोष बाबू (Colonel Santosh Babu) को भी श्रद्धांजलि दी, जो इस हफ्ते चीनी सैनिकों (Chinese Army) के साथ हिंसक झड़प में शहीद हो गए थे.

नई दिल्ली. भारतीय सेना (Indian Army) ने रविवार को बिहार रेजिमेंट (Bihar Regiment) के सैनिकों (Soldiers) के जज्बे और साहस को सलाम करते हुए एक वीडियो (Video) ट्वीट (Tweet) किया है. इस वीडियो में 21 साल पहले लड़े गये कारगिल युद्ध (Kargil War) के में रेजिमेंट के योगदान को याद किया गया है. उसे याद करते हुए सेना ने अपने ट्वीट में लिखा है, “#ध्रुववॉरियर्स और #बिहाररेजिमेंट के शेरों की गाथा. वे लड़ने के लिए ही पैदा हुए थे. वे बैट (चमगादड़ नहीं हैं. वे बैटमैन हैं.”

सेना की उत्तरी कमांड (Northern Command) ने ट्वीट किया, “हर सोमवार के बाद एक मंगलवार आता है, बजरंग बली की जय.” बता दें कि ‘जय बजरंग बली’, बिहार रेजिमेंट का युद्ध का नारा (War Cry) है. इस नारे को बिहार रेजिमेंट की सेनाएं तब लगाती हैं, जब वे युद्ध क्षेत्र में शत्रुओं के सामने उतरती हैं.

21 साल पहले इसी महीने बिहार रेजिमेंट ने पाक सेना से खाली कराया था कारगिल
सेना की ओर से शेयर किये गये इस 1 मिनट 57 सेकेंड के वीडियो में 1857 से 1999 के बीच रेजिमेंट के जरिए पूरे किए गए मिशन में से कुछ सबसे जांबाजी वाले मिशन दिखाए गये हैं. 1999, वह साल जब बिहार रेजीमेंट की पहली बटालियन ने पाकिस्तानी सेना से कारगिल के रणनीतिक महत्व के इलाके को फिर से कब्जे में ले लिया था.

इस शक्तिशाली वीडियो की कहानी को अपनी आवाज देने वाले मेजर अखिल प्रताप सिंह कहते हैं, “21 साल पहले यही महीना था. बिहार रेजिमेंट ने कारगिल में घुसपैठियों को धूल चटा दी थी. वे ऊंचाई पर भी थे और अच्छे से तैयार भी थे. वे (बिहार रेजिमेंट के सैनिक) फिर भी साहस के साथ गए और सम्मान के साथ वापस आये.”

वीडियो में चीनी सेना के साथ हिंसक झड़प में शहीद कर्नल संतोष बाबू को भी दी गई श्रद्धांजलि
सेना ने कर्नल संतोष बाबू (Colonel Santosh Babu) को भी श्रद्धांजलि दी, जो इस हफ्ते चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में शहीद हो गए थे.

यह भी पढ़ें: ‘कोरोना आखिरी महामारी नहीं, हमें आगे की चुनौतियों के लिए तैयार रहना होगा’

कर्नल बाबू, जो कि 16वीं बिहार रेजिमेंट (Bihar Regiment) के कमांडिंग ऑफिसर थे, उन 20 लोगों में शामिल थे, जिनकी 15 जून की रात चीनी सेना के साथ हिंसक झड़प में जान गई. इस हिंसक झडप के दौरान रेजिमेंट के 12 सैनिक शहीद हुए थे.


First published: June 21, 2020, 4:10 PM IST





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments