Home India News मुंबई में अब तक 15 लाख से ज्यादा लोग किए गए क्वारंटीन:...

मुंबई में अब तक 15 लाख से ज्यादा लोग किए गए क्वारंटीन: BMC


मुंबई में नए आने वाले कोरोना मामलों की संख्या में कमी आई है. (प्रतीकात्मक तस्वीर-AP)

BMC ने बताया है कि कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग (Contact Tracing) के दौरान इन 15 लाख लोगों में 5.34 लाख लोगों को ‘हाई रिस्क ग्रुप’ में रखा गया था. अब तक 13.28 लाख लोग क्वारंटीन पीरियड (Quarantine Period) पूरा कर चुके हैं. वर्तमान समय में मुंबई में 2.46 लाख लोग क्वारंटीन किए गए हैं.

मुंबई. कोविड-19 (Covid-19) के आउटब्रेक के बाद मुंबई (Mumbai) में अब तक 15 लाख से ज्यादा लोगों को क्वारंटीन (Quarantine) किया जा चुका है. ये जानकारी सोमवार को बृहनमुंबई मुंनिसिपल कॉरपोरेशन (BMC) ने दी. BMC ने बताया है कि कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग के दौरान इन 15 लाख लोगों में 5.34 लाख लोगों को ‘हाई रिस्क ग्रुप’ में रखा गया था. अब तक 13.28 लाख लोग क्वारंटीन पीरियड पूरा कर चुके हैं. वर्तमान समय में मुंबई में 2.46 लाख लोग क्वारंटीन किए गए हैं.

BMC की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक अस्पतालों में क्वारंटीन किए गए लोगों में कुल 11,409 को कोविड केयर सेंटर्स में रखा गया है. इस वक्त मुंबई में कोविड केयर सेंटर्स के पास 50 हजार बेड की क्षमता है. जबकि 2879 गंभीर संक्रमण से गुजर रहे लोगों को आईसीयू या वेंटिलेटर की जरूरत पड़ी है. मुंबई के पास ऐसे बेड्स की भी 6100 क्षमता है.

धारावी ने जगाई कोरोना के खिलाफ आशा की किरण
दुनिया की सबसे बड़ी झुग्गी बस्ती में शुमार मुंबई के धारावी में कोरोना वायरस के खिलाफ एक आशा की किरण जगी है. करीब 5000 लोगों, जिनमें डॉक्टर, नर्स, मुनसिपैलिटी कर्मचारी और वॉलंटियर शामिल हैं, की बीते दो महीने की मेहनत रंग लाती दिखने लगी है. इन सभी का बस एक मकसद कोरोना का हॉटस्पॉट बने धारावी को सामान्य स्थिति में लाना है. और धीमी ही सही लेकिन अब सफलता नजदीक आने लगी है.ये भी पढ़ें-फिर विवाद खड़ा कर रहा नेपाल, नो मेंस लैंड पर लगाया अपना बोर्ड

जून महीने के दौरान इस झुग्गी बस्ती इलाके में कोरोना रोगियों की संख्या में काफी हद तक नियंत्रण आया है. अप्रैल और मई महीने में एकसाथ बड़ी संख्या में केस आने की वजह से माना जा रहा था कि धरावी महाराष्ट्र सरकार के लिए बड़ी परेशानी बनकर उभर सकता है. इसके बाद ही बीएमसी ने तेजी के साथ कार्रवाई शुरू की और तेज रफ्तार टेस्टिंग के साथ लोगों को आइसोलेट करना शुरू किया गया.

मुंबई में कम हुई नए संक्रमित मामलों की संख्या
अगर जून महीने के आंकड़े देखे जाएं तो मुंबई में नए आने वाले कोरोना मामलों की संख्या में कमी आई है. लेकिन इसी के साथ अन्य जिलों में नए मामलों की रफ्तार बढ़ी है. शुरुआत में महाराष्ट्र सरकार के लिए मुंबई और पुणे सबसे बड़ी चुनौती बनकर उभरे थे.


Published by:
Arun Tiwari


First published:
July 7, 2020, 7:23 PM IST





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments