Home World News रूस ने नहीं मानी चीन की बात, भारत को जल्द देगा S-400...

रूस ने नहीं मानी चीन की बात, भारत को जल्द देगा S-400 और असॉल्ट राइफल


रूस निभाएगा भारत से किया वादा

रूस (Russia) तय समय पर एके-203 असॉल्ट राइफल, का-226टी लाइट यूटिलिटी हेलिकॉप्टर और मिसाइल सिस्टम एस-400 (S-400 missile defense system) की डिलीवरी देने के लिए तैयार है.

मॉस्को. भारत-चीन के बीच जारी तनाव (India-China Rift) के बावजूद रूस (Russia) ने भारत के प्रति अपनी प्रतिबद्धता जाहिर कर दी है. रूस ने चीन (China) की अपील न मानते हुए भारत के साथ जारी रक्षा सौदों को जल्द से जल्द पूरा करेगा. दोनों देशों के बीच ये सहमति भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) के हालिया रूस दौरे में बनी है और रूस तय समय पर एके-203 असॉल्ट राइफल, का-226टी लाइट यूटिलिटी हेलिकॉप्टर और मिसाइल सिस्टम एस-400 (S-400 missile defense system) की डिलीवरी देने के लिए तैयार है.

अंग्रेज़ी अख़बार द हिन्दू के मुताबिक भारत ने रूस से कहा है कि उसे रक्षा सौदों में अब देरी नहीं करनी है. इस पर रूस ने भारत को आश्वस्त किया है कि वो अगले कुछ महीनों में इसे अंजाम तक पहुंचा देगा. रूस ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से भी कहा है कि सभी रक्षा सौदे तय समय पर ही पूरे होंगे. रिपोर्ट के मुताबिक इस दौरे में राजनाथ सिंह की रूस के उप प्रधानमंत्री युर्य बोरिसव से बात हुई थी और उन्होंने रक्षा सौदों को लेकर भारत को आश्वस्त किया है.

ये भी पढ़ें :- अभी तो समझना शुरू हुआ है कि कोरोना वायरस कितनी समस्याओं की वजह है!

2021 के आख़िर तक मिलेगा एस-400राजनाथ सिंह ने भी रूस से लौटकर कहा था कि रूस ने भरोसा दिया है कि मौजूदा अनुबंधों को जारी रखा जाएगा और कुछ को जल्द आगे बढ़ाया जाएगा. मिसाइल सिस्टम एस-400 सौदे पर सूत्रों का कहना है कि इसकी डिलिवरी तय वक़्त पर 2021 के अंत में शुरू हो जाएगी और इस सौदे को आगे बढ़ाना मुश्किल होगा. रिपोर्ट के मुताबिक एके-203 राइफल के सौदे में कुछ प्रगति हुई है, जो दाम के मामले में रुकी हुई थी. ये सौदे साढ़े सात लाख से ज़्यादा राइफल को लेकर हुआ है. इसमें से एक लाख आयातित होंगी और 6.71 लाख राइफल एक जॉइंट वेंचर के तौर पर उत्तर प्रदेश के कोरवा में इंडो-रूस राइफल प्राइवेट लिमिटेड (आईआरआरपीएल) बनाएगा. हालांकि 200 का-226टी लाइट यूटिलिटी हेलिकॉप्टर का सौदा अभी भी अटका हुआ है लेकिन रूस ने इसे जल्द से जल्द सुलझा लेने का वादा किया है.

ये भी पढें:-

इंदिरा गांधी ने क्यों नहीं रखे कभी चीन से संबंध?

सुशांत ने खरीदा था… क्या कोई खरीद सकता है चांद पर प्लॉट?

राफेल भी जल्द मिलेगा
उधर अंग्रेजी अखबार इकॉनोमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि फ्रांस ने अगले महीने तक अतिरिक्त रफ़ाल जेट डिलिवर कर देगा. इसके आलावा इजराइल से भी भारत को जल्द एयर डिफेन्स सिस्टम मिलने की उम्मीद है. उन्नत रफाल लड़ाकू विमानों की पहली खेप 27 जुलाई को भारत में आने की उम्मीद है. कहा जाता है कि ये विमान दुनिया में संभवत: सबसे बेहतरीन हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइल से लैस हैं. शुरुआती योजना के तहत चार फाइटर को अगले महीने होम बेस अंबाला पहुंचना था, लेकिन फ्रांस ने अतिरिक्त रफाल अब पहली खेप में भेजने की प्रतिबद्धता जताई है. कुल आठ विमानों का जल्द ही सर्टिफिकेशन होना है, लेकिन ये साफ़ नहीं है कि कितने अतिरिक्त फाइटर कब तक मिल पाएंगे.


First published: June 29, 2020, 1:47 PM IST





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments