Home World News रूस ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की स्थायी सदस्यता का...

रूस ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की स्थायी सदस्यता का किया समर्थन


रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव

रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव (Russian Foreign Minister Sergei Lavrov) ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UN Security Council) का स्थायी सदस्य (India Permanent Member) बनने के लिए भारत एक मजबूत उम्मीदवार है और हम भारत की उम्मीदवारी का समर्थन करते हैं.

मास्को. रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव (Russian Foreign Minister Sergei Lavrov) ने कहा कि आज हमने संयुक्त राष्ट्र के संभावित सुधारों के बारे में बातचीत की. उन्होंने कहा कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UN Security Council) का स्थायी सदस्य (India Permanent Member) बनने के लिए भारत एक मजबूत उम्मीदवार है और हम भारत की उम्मीदवारी का समर्थन करते हैं. हमारा मानना है कि भारत सुरक्षा परिषद का पूर्ण सदस्य बन सकता है. रूस-भारत-चीन के विदेश मंत्रियों की मंगलवार को हुई वर्चुअल बैठक के दौरान भारत के पुराने दोस्त रूस ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की स्थाई सदस्यता का जोरदार तरीके से समर्थन किया है.

‘भारत और चीन के तनाव वे खुद सुलझाने में सक्षम’

सर्गेई लावरोव ने कहा कि मौजूदा समय में भारत और चीन के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा पर जो तनाव चल रहा है, उसमें किसी तीसरे देश को दखल देने की जरूरत नहीं है. उन्होंने कहा कि हम यह आशा करते हैं कि दोनों देशों के बीच हालात शांतिपूर्ण बने रहेंगे. दोनों ही देश इस विवाद का शांतिपूर्ण हल ढूंढ लेंगे.

 

दोनों ही देश अपने बलबूते इसका समाधान निकाल सकते हैं: लावरोव

लावरोव कहा कि मैं यह नहीं मानता हूं कि भारत और चीन को किसी तीसरे देश की मदद की दरकार है. दोनों ही देश अपने बलबूते इसका समाधान निकाल सकते हैं. विदेश मंत्री ने कहा कि भारत और चीन ने शांतिपूर्ण समाधान को लेकर अपनी प्रतिबद्धता दिखाई है.

ये भी पढ़ें: गलवान घाटी संघर्ष के बाद सीमा पर तनाव कम करने के लिए भारत के साथ बनी सहमति: चीन

क्रिमिनल बॉस से विवाद के बाद 15 लोगों को जिंदा जलाकर मार डाला, दो महिलाएं भी शामिल

उन्होंने दोनों देशों के रक्षा अधिकारियों, विदेश मंत्रियों के स्तर पर बात की है और दोनों पक्षों ने ऐसा कोई बयान नहीं दिया है जिससे यह संकेत मिलता हो कि कोई भी पक्ष इस मसले का कूटनीतिक समाधान न चाह रहा हो.


First published: June 23, 2020, 5:28 PM IST





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments