Home India News वीजा देकर कश्मीरी युवाओं को आतंक की ट्रेनिंग पर भेज रहा पाक...

वीजा देकर कश्मीरी युवाओं को आतंक की ट्रेनिंग पर भेज रहा पाक उच्चयोग: इंटेल रिपोर्ट


आतंकवाद को स्थानीय रंग देने की साज़िश रच रहा है पाकिस्तान (सांकेतिक तस्वीर)

भारत ने कहा कि वह पाकिस्तान उच्चायोग (Pakistan High Commission) के कर्मचारियों जासूसी के कामों में लगे हुए हैं और आतंकवादी संगठनों (Terrorist organization) के साथ व्यवहार बनाए रखते हैं.

पाकिस्तान उच्चायोग (Pakistan High Commission) के अधिकारी न सिर्फ जासूसी गतिविधियों में शामिल होते हैं, बल्कि उनके संबंध आतंकी संगठनों (Terrorist organization) से भी हैं. एक खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान उच्चायोग कश्मीरी युवाओं को वीज़ा देकर आतंकवाद की ट्रेनिंग पर पाकिस्तान भेजता है. रिपोर्ट के अनुसार 2017 से अब तक जम्मू कश्मीर के 399 युवाओं को पाक उच्चायोग ने वीज़ा जारी कर पाकिस्तान भेजा. इनमें से 218 कश्मीरी युवाओं के बारे में कोई जानकारी नहीं है. खुफिया एजेंसियों को संदेह है कि इन कश्मीरी युवाओं को आतंकी ट्रेनिंग के लिए भेजा गया है.

मारे गए तीन कश्मीरी युवा वीज़ा पर गए थे पाकिस्तान

31 मार्च की रात को लश्कर के पांच आतंकियों ने जम्मू-कश्मीर के केरन सेक्टर में घुसपैठ की. यह आतंकी बड़ी संख्या में गोला बारूद लेकर जम्मू-कश्मीर में आतंकी हमलों को अंजाम देने के लिए आए थे. इन आतंकियों ने पाक अधिकृत कश्मीर के दुधनियाल सेक्टर से घुसपैठ की. इन पांचों आतंकियों को 5 अप्रैल को सुरक्षाबलों ने मार गिराया. खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक इनमें से तीन आतंकी जम्मू-कश्मीर के नागरिक थे, जिनकी पहचान आदिल हुसैन मीर,  उमर नज़ीर खान और सज्जाद अहमद हुर्राह के तौर पर हुई. यह तीनों अप्रैल 2018 में पाक उच्चयोग से वीज़ा लेकर पाकिस्तान गए थे.

पुलवामा जैसे हमलों को अंजाम देने के लिए ट्रेनिंग दे रहा पाकअंतरराष्ट्रीय मंच पर आतंकी देश का लेबल लगने के बाद अब पाकिस्तान कश्मीरी युवाओं को आतंक की फैक्ट्री में धकेलना चाहता है. ख़ुफ़िया एजेंसियों को मिली जानकारी के मुताबिक पाकिस्तान कश्मीरी युवाओं के ज़रिए कश्मीर में पुलवामा जैसे आतंकी हमलों को अंजाम देना चाहता है.

> 14 फरवरी 2019 को पुलवामा में एक स्थानीय कश्मीरी युवा आदिल डार ने सुसाइड बोम्बिंग को अंजाम दिया, जिसमें सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे.

> खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक ऐसे हमलों को अंजाम देकर आतंकवाद को स्थानीय रंग देने की साज़िश रच रहा है पाकिस्तान.

पाक उच्चयोग के स्टाफ की संख्या 50% घटायी जाएगी

भारत सरकार ने नई दिल्ली में पाकिस्तानी उच्चायोग में कर्मचारियों की संख्या 50% तक कम करने का फैसला किया है. भारत के इस फैसले के बाद से उच्चायोग में तैनात कर्मचारियों की संख्या 110 से घटाकर 55 कर दी जाएगी. भारत ने कहा कि वह पाकिस्तान उच्चायोग के कर्मचारियों जासूसी के कामों में लगे हुए हैं और आतंकवादी संगठनों के साथ व्यवहार बनाए रखते हैं. 31 मई 2020 को दो कर्मचारियों को देश विरोधी गतिविधियों के लिए रंगे हाथ पकड़ा गया था और निष्कासित कर दिया गया.


First published: June 26, 2020, 6:19 PM IST





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments