Home Make Money Jet Airways को फिर से उड़ाना आसान नहीं होगा: एक्सपर्ट

Jet Airways को फिर से उड़ाना आसान नहीं होगा: एक्सपर्ट


जेट एयरवेज

विमानन सेवा बाजार के एक्सपर्ट का मानना है कि वित्तीय बोझ से बैठ चुकी निजी क्षेत्र की एयरलाइन कंपनी जेट एयरवेज (Jet Airways) को दोबारा उड़ाना आसान नहीं है.

नई दिल्ली. यूके बेस्ड कालरॉक कैपिटल (Kalrock Capital) और संयुक्त अरब अमीरात (UAE) के आंत्रप्रेन्योर मुरारी लाल जालान (Murari Lal Jalan) वाली कंसोर्टियम जेट एयरवेज (Jet Airways) की नई मालिक बन गई है. जेट एयरवेज को कर्ज देने वाली क्रेडिटर्स कमेटी (Committee of Creditors) ने इसके लिए मंजूरी दे दी है. विमानन सेवा बाजार के एक्सपर्ट का मानना है कि जेट एयरवेज के फिर से खड़ा करने के लिए नए निवेशकों की योजना को सीओसी (COC) की मंजूरी मिल गई है, लेकिन वित्तीय बोझ से बैठ चुकी निजी क्षेत्र की इस एयरलाइन को दोबारा उड़ाना आसान नहीं है.

परिचालन को बहाल करना कठिन 
विमान उद्योग पर अनुसंधान एवं परामर्श सेवाएं देने वाली कंपनी सीएपीए इंडिया के प्रमुख कपिल कौल ने बताया कि परिचालन को बहाल करने का रास्ता कठिन और अनिश्चित है. उन्होंने कहा कि जेट के कर्जदारों ने जो शर्तें मंजूर की हैं, वह सीएपीए को समझ में नहीं आतीं.

अभी यह योजना एनसीएलटी की मंजूरी के लिए रखी जानी है.इन दो कंसोर्टियम से मिली थीं बोलियां 

बता दें कि जेट एयरवेज को दो कंसोर्टियम से बोलियां मिली थीं, जिनमें से एक यूके बेस्ड कालरॉक कैपिटल और यूएई के आंत्रप्रेन्योर मुरारी लाल जालान और दूसरी हरियाणा की फ्लाइट सिमुलेशन टेक्नीक सेंटर (FSTC), मुंबई स्थित बिग चार्टर और अबू धाबी की इंपीरियल कैपिटल इंवेस्टमेंट्स एलएलसी थी.

अप्रैल 2019 में बंद हुआ था जेट एयरवेज का कामकाज
नरेश गोयल की एयरलाइन कंपनी जेट एयरवेज का कामकाज अप्रैल 2019 में बंद हुआ था. जेट के बेड़े में एक समय 120 विमान थे, जो इसके बंद होने के समय सिर्फ 16 रह गए थे. मार्च 2019 को खत्म हुए वित्त वर्ष में जेय एयरवेज का घाटा 5,535.75 करोड़ रुपये था.

कौन हैं जेट एयरवेज के नए मालिक 

यूएई के मुरारी लाल जालान एमजे डेवलपर्स कंपनी के मालिक हैं. उन्‍होंने रियल एस्टेट, माइनिंग, ट्रेडिंग, कंस्ट्रक्शन, एफएमसीजी, ट्रेवल एंड टूरिज्म और इंडस्ट्रियल वर्क्‍स जैसे सेक्टर्स में निवेश किया है. इसके अलावा जालान हेल्‍थकेयर सेक्‍टर से भी जुड़े हुए हैं. एविएशन सेक्‍टर में ये उनका पहला अनुभव है. वहीं, कालरॉक कैपिटल ब्रिटेन में लंदन की फाइनेंशियल एडवाइजरी और अल्टरनेटिव एसेट मैनेजमेंट से जुड़ा कारोबार करती है. यह कंपनी मुख्‍य तौर पर रियल एस्टेट और वेंचर कैपिटल से जुड़ी है. इस कंपनी का वित्‍तपोषण फ्लोरियन फ्रिट्श से हासिल होता है.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments