Home Make Money Petrol Price Today- 16 दिन में पेट्रोल 8.30 रुपये और डीज़ल 9.22...

Petrol Price Today- 16 दिन में पेट्रोल 8.30 रुपये और डीज़ल 9.22 रुपये हुआ महंगा, जानिए आज के रेट्स


नई दिल्ली. सरकारी ऑयल मार्केटिंग कंपनी (HPCL, BPCL, IOC) ने लगातार 16वें दिन (Petrol, diesel prices hiked for 16th day in a row) पेट्रोल-डीजल (Petrol-Diesel Price Today) की कीमतों को बढ़ा दिया है. राजधानी दिल्ली में सोमवार को पेट्रोल की नई कीमत 79.56रुपए प्रति लीटर हो गई है. वहीं, इस दौरान दिल्ली में डीजल की कीमत में 58 पैसे की बढ़ोतरी हुई है. अब एक लीटर डीज़ल 78.85 रुपये प्रति लीटर में मिल रहा है.

आपको बता दें कि पेट्रोल-डीजल के भाव रोजाना बदलते हैं और सुबह 6 बजे अपडेट हो जाते हैं. पेट्रोल-डीजल का रोज़ का रेट आप SMS के जरिए भी जान सकते हैं (How to check diesel petrol price daily). वास्तव में अपने शहर में पेट्रोल-डीजल के भाव चेक करने के तीन तरीके हैं: आप आयल मार्केटिंग कंपनियों के पंप लोकेटर की मदद से भाव पता कर सकते हैं. फ्यूल@आईओसी एप डाउनलोड करें. 92249 92249 पर एक एसएमएस भेजकर भाव पता करें.

देश के बड़े शहरों में पेट्रोल-डीज़ल के नए दाम (Petrol Price on 22 June 2020)

दिल्लीएक लीटर पेट्रोल के दाम 79.56 रुपये
एक लीटर डीज़ल के दाम 78.85 रुपये

नोएडा
एक लीटर पेट्रोल के दाम 80.42 रुपये
एक लीटर डीज़ल के दाम 71.24 रुपये

ये भी पढ़ें-चीन की करारी हार, अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर पर छिन गया अहम दर्जा

गुरुग्राम
एक लीटर पेट्रोल के दाम 77.80 रुपये
एक लीटर डीज़ल के दाम 71.26 रुपये

लखनऊ
एक लीटर पेट्रोल के दाम 80.32 रुपये
एक लीटर डीज़ल के दाम 71.15 रुपये

मुंबई
एक लीटर पेट्रोल के दाम 86.36 रुपये
एक लीटर डीज़ल के दाम 77.24 रुपये

चेन्नई
एक लीटर पेट्रोल के दाम 82.87 रुपये
एक लीटर डीज़ल के दाम 76.30 रुपये

कोलकाता
एक लीटर पेट्रोल के दाम 81.27 रुपये
एक लीटर डीज़ल के दाम 74.14 रुपये

एक्सपर्ट्स का कहना है कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पेट्रोल अभी भी एक लीटर पानी की पैकेज्ड बोतल से सस्ता है. वहीं, देश में कीमतें 21 महीने में सबसे ज्यादा हो गई है. मार्च में सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर एक्साइड ड्यूटी में 3 रुपये प्रति लीटर का इजाफा कर दिया था. इसके बाद भी तेल कंपनियों ने कीमतों में टैक्स नहीं बढ़ाया. इसीलिए अब वो पेट्रोल पर रोजाना दाम बढ़ा रही हैं.

ये भी पढ़ें-छंटनी और वेतन कटौती से SBI पर कम असर पड़ेगा: चेयरमैन रजनीश कुमा

इसके अलावा लॉकडाउन में ढील के बाद अचानक पेट्रोल और डीजल की डिमांड बढ़ी है. रुपये में गिरावट से भी तेल कंपनियों की चिंता बढ़ी है. लॉकडाउन के बीच तेल कंपनियों को नुकसान उठाना पड़ा था. अब वे इसकी भरपाई कर रही है.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments